स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

मान्यता रद्द करने की चेतावनी भी नहीं मानी, खोले स्कूल

Sharad Shukla

Publish: Jan 02, 2020 13:21 PM | Updated: Jan 02, 2020 13:21 PM

Nagaur

Nagaur patrika latest news. जिला कलक्टर ने दिए थे स्कूलों को चार तक बंद करने के निर्देश, जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में अलसुबह हाड़ कंपाती 11 किलोमीटर की रफ्तार से चली बर्फीली हवाओं के बीच गिरते, लडखड़़ाते स्कूल पहुंचे बच्चे, बुधवार को भी तापमान में कोई विशेष बढ़ोत्तरी नहीं, शाम को सात बजे के पारा 14 डिग्री सेल्सियस पहुंचा, न्यूतम सात डिग्री, बिगड़ी स्थिति. Nagaur patrika latest news

नागौर. जिला कलक्टर की ओर से शीतलहर के चलते चार जनवरी तक शिक्षण संस्थानों के बंद नहीं किए जाने पर मान्यता रद्द करने की चेतावनी भी जिले के कई निजी शिक्षण संस्थानों ने अनसुनी कर दी। विशेषकर ग्रामीण क्षेत्रों में बुधवार को अलसुबह करीब 11 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चलती बर्फीली हवाओं में बच्चोंको ठिठुरते-कांपते स्कूलों में जाना पड़ा। यह स्थिति तब है, जबकि तापमान की स्थिति में कोई विशेष परिवर्तन नहीं हुआ। सुबह का तापमान लुढक़ा हुआ था, हालांकि दोपहर में तापमान में एक डिग्री सेल्सियस की बढ़ोत्तरी जरूर रही, लेकिन न्यूनतम में कोई परिवर्तन नहीं आया। नतीजतन कड़ाके की सर्दी में जहां लोग घरों में कैद थे, वहीं कई जगहों पर बच्चों को उसी सर्दी में स्कूल जाने के लिए मजबूर होना पड़ा।
जिले में कड़ाके की हाड़ कंपाती ठंड बुधवार को भी लोगों को परेशान करती रही। सुबह सात से आठ बजे के बीच जिले कई बाजार जहां पूरी तरह से बंद रहे, वहीं शिक्षण संस्थान खुले नजर आए। मौसमविदों के अनुसार 11 किलोमीटर प्रति घंटे की चलती हवाओं ने लोगों को खासा परेशान किया। सुबह चार बजे से लेकर आठ बजे तक तक तापमान का पारा भी लुढक़ा हुआ था। दोपहर में हालांकि धूप का साथ मिला और एक डिग्री सेल्सियस की बढ़ोत्तरी के बाद अधिकतम तापमान 20 डिग्री सेल्सियस हो गया, लेकिन न्यूतम तापमान के पारे में में कोई बदलाव नहीं आया। सर्दी की स्थिति का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि बाजारों कई दुकानें सुबह दस बजे तक नहीं खुल पाई थी। ऐसे में जिले में पीलवा क्षेत्र में निजी शिक्षण संस्थान पूरी तरह से खुले रहे। स्कूल का समय भी सुबह का होने के कारण बर्फीली हवाओं की मार से बच्चे ठंड में गिरते रहे, लेकिन स्कूल जाने की विवशता की वजह से खासे परेशान भी रहे। बताया जाता है कि जिले के ज्यादातर ग्रामीण क्षेत्रों में कई शिक्षण संस्थानों ने कलक्टर के इस निर्देश को केवल कागजी खानापूर्ति बताते हुए स्कूलों को बंद करने से साफ मना कर दिया।
कलक्टर ने यह निर्देश दिए थे
उल्लेखनीय है कि जिले में पडे रही कडाके की सर्दी व कोहरे के मध्यनजर जिला कलक्टर दिनेश कुमार यादव ने मंगलवार को उच्च प्राथमिक स्तर तक के विद्यार्थियों हेतु चार दिवस का अवकाश घोषित किया है। उन्होनें बताया कि शीत लहर चलने के कारण एक जनवरी से चार जनवरी तक जिले में समस्त राजकीय, निजी, सीबीएसई एवं अन्य बोर्ड से मान्यता प्राप्त विद्यालयों में कक्षा 1 से 8 तक विद्यार्थियों हेतु अवकाश घोषित किया है। वहीं कक्षा 9 से 12 तक के विद्यार्थियों का विद्यालय समय शिविरा पंचाग अनुसार प्रात: 10 बजे से सांय 4 बजे तक रहेगा, और विद्यालय स्टाफ निर्धारित समय पर विद्यालय में उपस्थित रहेगें। आदेशों का उल्लंघन करने पर संबंधित संस्था के विरूद्ध मान्यता रदद् करने संबंधी कार्यवाही की जाएगी।

[MORE_ADVERTISE1]