स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

पर्यावरण संरक्षण के प्रति शिक्षक ने पेश की अनूठी मिसाल

Pratap Singh Soni

Publish: Sep 16, 2019 18:47 PM | Updated: Sep 16, 2019 18:47 PM

Nagaur

स्कूल में लगाएं 125 से भी ज्यादा पौधे, 9 वर्षो से कर रहे सार-संभाल

चौसला. आजकल जहां एक ओर सरकारी स्कूलों में शिक्षा के गिरते स्तर के कारण लोगों का भरोसा उन पर से खत्म होता जा रहा है, वहीं हमारे बीच ऐसे भी शिक्षक है, जिन्होंने अपने प्रयासों से सरकारी स्कूलों में पढ़ाई के साथ अन्य बेहतरीन व्यवस्था बनाई है। विष्णुदत्त शर्मा ऐसे ही एक शिक्षक है। जिन्होंने पर्यावरण संरक्षण की अनूठी मिसाल पेश की है। स्कूल परिसर में शिक्षक ने ना केवल 125 से अधिक पौधे लगाए है, बल्कि लगातार 9-10 सालों से उनकी सार संभाल कर उन्हें वृक्ष भी बनाया है। वर्तमान में वृक्षों की अधिकता से पूरा स्कूल परिसर बगीचे में होने का एहसास कराता है। इतना ही नहीं यहां आने वाले अधिकारी व ग्रामीण शिक्षक के सराहनीय कार्य के लिए प्रशंसा करने से नहीं थकते। सरकारी स्कूल का नाम आए तो एक बारगी बिगड़े हालात और दुर्दशा के शिकार स्कूलों की तस्वीर ही जहन में उभरती है, लेकिन पिछले कुछ सालों से इस शिक्षक ने अपनी मेहनत के बल पर स्कूल परिसर को स्वच्छ और सुंदर बना दिया है।
नौकरी के साथ-साथ शर्मा ने वर्षो से पर्यावरण संरक्षण का भी बीड़ा उठाया हुआ है। पर्यावरण सरंक्षण के प्रति उनकी हर तरफ सक्रिय भागीदारी रहती है। शिक्षक ने चार दीवारी के अभाव में कंटीली बाड़ से पौधों की सुरक्षा की तथा इनमें नियमित पानी डालकर पौधों की सार संभाल शुरू की। लगातार पानी देने व संभाल के चलते अब स्कूल हरा भरा नजर आता है। इन पेड़ों के नीचे दोपहर की छुट्टी में स्कूल के नौनिहाल खेलने का भरपूर आनंद लेते है।

प्रेरित हुई शिक्षिका
विष्णुदत्त शर्मा के पर्यावरण के प्रति समर्पण भाव को देखकर विद्यालय में कार्यरत शिक्षिका अंजली जांगीड़ भी प्रेरित हुई है। 2019 में हुए पौधरोपण कार्य में विष्णुदत्त शर्मा का इन्होंने सहयोग किया।

इनका कहना है
बनगढ़ राजकीय प्राथमिक विद्यालय द्वितीय के शिक्षक विष्णुदत्त शर्मा का सराहनीय कार्य है। इन्होंने 125 से अधिक पौधों को पनपा कर पर्यावरण संरक्षण की मिसाल पेश की है। अन्य स्कूलों के अध्यापकों को भी इनसे प्रेरणा लेनी चाहिए।
धर्मसिंह, सरपंच, ग्राम पंचायत चौसला