स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

कॉलेज में व्याख्याताओं के रिक्त पद के मामले में भिड़े छात्र

Suresh Vyas

Publish: Nov 11, 2019 23:53 PM | Updated: Nov 11, 2019 23:53 PM

Nagaur

छात्रसंघ अध्यक्ष ने की तालाबंदी, दूसरे गुट ने आकर तोड़े ताले

मेड़ता सिटी. राजकीय पीजी महाविद्यालय में व्याख्याताओं के रिक्त पदों पर नियुक्ति की मांग को लेकर छात्रसंघ अध्यक्ष के नेतृत्व में सोमवार सुबह कॉलेज में ताला लगा दिया गया। उसी समय दूसरे गुट ने आकर के कॉलेज पर लगाए ताले को पत्थर से तोड दिया। इससे एक-दूसरे से उलझ गए। प्रकरण को लेकर उपखण्ड अधिकारी को ज्ञापन भी दिया गया। छात्रसंघ अध्यक्ष वेनसिंह माली ने बताया कि लम्बे समय से महाविद्यालय में व्याख्याताओं के अधिकांश पद रिक्त है। खाली पद होने के कारण विद्यार्थियों की पढ़ाई में बाधा आ रही है। जिसके चलते नियमित अध्ययन नहीं हो रहा है और कक्षाएं नहीं लग रही है। इसी मांग को लेकर महाविद्यालय में तालाबंदी की गई। छात्रसंघ अध्यक्ष का आरोप है कि नोन कॉलेज के युवाओं ने विवाद करते हुए पत्थर से ताला तोड़ दिया। छात्रसंघ अध्यक्ष ने बताया कि महाविद्यालय में इन युवाओं की गतिविधियों से प्रशासन को भी अवगत करवाया गया। परंतु प्रशासन द्वारा किसी तरह की कार्रवाई नहीं की जा रही है। दूसरी तरफ विरोधी पक्ष ने तालाबंदी को गलत बताते हुए कहा कि शिक्षकों की कमी को राज्य सरकार द्वारा नियुक्ति किए जाने के बाद ही दुरुस्त किया जा सकेगा। इसे लेकर के तालाबंदी अनुचित है। समूचे प्रकरण को लेकर के छात्रसंघ अध्यक्ष के नेतृत्व में विद्यार्थियों ने उपखण्ड अधिकारी कार्यालय पहुंचकर के एसडीएम काशीराम चौहान को ज्ञापन देकर रिक्त पदों पर नियुक्ति सहित नोन कॉलेज के युवाओं के खिलाफ कार्रवाई की मांग की गई।

दोनों पक्षों को किया पाबंद

महाविद्यालय में ताला लगाने को लेकर थानाधिकारी से जानकारी ली गई। दोनों ही पक्षों को पाबंद करने के लिए निर्देशित किया गया है।

काशीराम चौहान, उपखण्ड अधिकारी, मेड़ता सिटी।

दोनों पक्षों से की गई समझाइश
महाविद्यालय में व्याख्याताओं के पदों की कमी के चलते ताला लगाया गया था। दरअसल 29 व्याख्याताओं का स्टाफ होना चाहिए, लेकिन कॉलेज में 10 व्याख्याता ही है। इसे लेकर नाराज विद्यार्थियों द्वारा ताला लगाने पर समझाइश की गई।

बलवीर सेन, प्राचार्य, राजकीय पीजी महाविद्यालय, मेड़ता सिटी।

[MORE_ADVERTISE1]