स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

राजस्थान: नागौर निवासी सैनिक रामेश्वर लाल चौधरी शहीद, ड्यूटी के दौरान आया था हिमस्खलन

Nakul Devarshi

Publish: Jan 16, 2020 15:17 PM | Updated: Jan 16, 2020 15:25 PM

Nagaur

कश्मीर में कुचामन शहर के गांव हिरानी निवासी सैनिक रामेश्वर लाल चौधरी ( Rameshwar Lal Choudhary ) शहीद हो गए। जानकारी के अनुसार रामेश्वरलाल कश्मीर में तैनात थे। जहां हिमस्खलन से चपेट में आने से उनकी मौत हो गई।

नागौर।

कश्मीर में कुचामन शहर के गांव हिरानी निवासी सैनिक रामेश्वर लाल चौधरी ( Rameshwar Lal Choudhary ) शहीद हो गए। जानकारी के अनुसार रामेश्वरलाल कश्मीर में तैनात थे। जहां हिमस्खलन से चपेट में आने से उनकी मौत हो गई। कश्मीर में हिमस्खलन में पिछले तीन चार दिनों में 5 सैनिक शहीद हुए हैं। मौसम खराब होने के चलते शहीद का शव रवाना नहीं किया जा सका है। संभवत गुरुवार शाम तक या अगले दिन ही शव हिरानी पहुंच पाएगा।


भूस्खलन से हाइवे बंद, हवाई सेवा ठप
जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग बुधवार को लगातार तीसरे दिन बंद रहा। दो दिनों के बाद मौसम में सुधार होने के बाद मलबा हटाने का काम पूरा ही हुआ था कि तड़के हुए भूस्खलन के कारण मलबा फिर सड़क पर उतर आया। करीब तीन दिनों से बंद जम्मू-श्रीनगर हाइवे पर पांच हजार से अधिक वाहन फंसे हुए हैं।


मौसम विभाग के अनुसार कश्मीर के मैदानी इलाकों के अलावा जम्मू के पहाड़ी इलाकों व लद्दाख में बुधवार को बर्फबारी हुई। इससे श्रीनगर में हवाई सेवाओं पर भी असर पड़ा। अधिकारियों का कहना है कि मौसम में सुधार होने पर ही हवाई सेवा बहाल हो पाएगी।

गौरतलब है कि खराब मौसम की वजह से श्रीनगर में रविवार और सोमवार को सभी उड़ाने रद्द कर दी गई। मंगलवार दोपहर बाद हवाई जहाज उतरे परंतु देर रात को फिर से बर्फबारी होने पर सुबह न तो हवाई जहाज श्रीनगर से उड़ पाए और न ही उतर पाए।

[MORE_ADVERTISE1] [MORE_ADVERTISE2] [MORE_ADVERTISE3]