स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

बाबा साहेब को श्रद्धांजलि देकर संविधान उद्देशयों के पालना की ली शपथ

Suresh Vyas

Publish: Dec 06, 2019 19:10 PM | Updated: Dec 06, 2019 19:10 PM

Nagaur

डॉ. अम्बेडकर के 64वें महा परिनिर्वाण दिवस पर किए श्रद्धासुमन अर्पित

मेड़तासिटी. यहां सिविल लाइन स्थित मेघवाल समाज भवन में बाबा साहेब डॉ. भीमराव अम्बेडकर के 64वें महा परिनिर्वाण दिवस पर मेघवाल विकास संस्थान के पदाधिकारियों ने श्रद्धांजलि दी। डॉ. अम्बेडकर के 64वें महा परिनिर्वाण दिवस पर विकास संस्थान के संरक्षक शिवदान मेघ, पूर्व इंजीनियर सीताराम खिंची, पुखराज ठेकेदार, गणपत परिहार, सुशील खिंची, महादेव पंवार, मुकेश मेहरा, मनीष जयपाल, रघुनाथराम मीण्डा, रजनीश जारोडिय़ा, सुरेश जयपाल, वागाराम बायणिया, हरदेवराम गुजलरिया, महेन्द्र सिंह कापड़ी सहित पदाधिकारियों ने श्रद्धासुमन अर्पित कर नमन किया। इस दौरान समाज के लोगों ने बाबा साहेब के बताए पदचिह्नों पर चलकर संविधान के उद्देश्यों व उद्देशिका का पालन करने का संकल्प लिया। इस दौरान संरक्षक मेघ ने कहा कि अम्बेडकर द्वार जो संविधान लिखा गया वो विश्व का सबसे बड़ा संविधान है। इसी तहर नगरपालिका सभागार में पालिकाध्यक्ष रुस्तम प्रिंस के सान्निध्य में निर्वाण दिवस पर श्रद्धासुमन अर्पित किए गए। रेगर पंचायत भवन में महा परिनिर्वाण दिवस पर भीमराव अम्बेडकर को श्रद्धाजंलि दी गई। श्रद्धाजंलि कार्यक्रम में बोलते हुए पूर्व विधायक रामचन्द्र जारोड़ा ने कहा कि डॉ. भीमराव अंबेडकर हमारे संविधान के शिल्पी है। वे समान स्वंतत्रता और भाईचारे के लिए आखिरी सांस तक लड़े थे। इस दौरान पीसीसी सदस्य लालाराम नायक, पार्षद मुक्तिलाल नागौरा ने विचार रखे।

[MORE_ADVERTISE1]