स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

ट्यूबवेल में 5 महीनों से अधर में मोटर

Sandeep Pandey

Publish: Oct 21, 2019 11:33 AM | Updated: Oct 21, 2019 11:33 AM

Nagaur

बूड़सू. कस्बे के निकट सफेड़ बडी ग्राम पंचायत के राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय नेतड़ो की ढाणी की ट्यूबवेल में 3 साल पहले मोटर जली थी।

बूड़सू. कस्बे के निकट सफेड़ बडी ग्राम पंचायत के राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय नेतड़ो की ढाणी की ट्यूबवेल में 3 साल पहले मोटर जली थी। जनवरी 2019 में जली मोटर को बहार निकाला। उसके बाद 16 जून 2019 को नई मोटर, केबल,स्टार्टर आदि सामान लाकर डाल दिया। थोड़ी केबल कम पडऩे से ग्राम पंचायत के कर्मचारियों ने मोटर को ट्यूबवेल के आधी अंदर छोडकर चले गए। इसके बाद वे आज तक वापस आकर ट्यूबवेल की सुध तक नहीं ली। राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय के प्रधानाध्यापक विनोद कुमार मीणा ने बताया कि ग्राम विकास अधिकारी को कई बार अवगत करा दिया लेकिन इस पर ध्यान तक नहीं दिया। बंद ट्यूबवेल के बारे में जलदाय विभाग को भी अवगत कराया लेकिन जलदाय विभाग ने ग्राम अ्युबवेल ग्राम पंचायत के अधिन होने का हवाला दिया। प्रधानाध्यापक ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा चलाए गए शिकायत केन्द्र सम्पर्क पोर्टल पर भी कई बार शिकायत दर्ज करवाई, लेकिन किसी ने सुनवाई तक नहीं की। जानकारी अनुसार 2013 में विद्यालय में ग्राम पंचायत द्वारा ट्यूबवेल खोदी गई जो 3 साल तक चली उसके बाद उसकी मोटर खराब हो गई जो आज तक वापस चालू नहीं हुई। इस पर छात्रों को पीने के लिए पानी घर से लाना पड़ता है और पोषहार बनाने वाले को भी पानी अपने घर से लाना पड़ता है। ऐसे में छात्रों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है। जून में मोटर को ट्यूबवेल केअंदर लटकाई और अक्टूबर पूरा होने को है, लेकिन मोटर को अंदर तक नहीं दिया। विद्यालय के आस-पास में रहने वाली ढाणी के लोगो का कहना है कि ट्यूबवेल में पीने के लिए पानी भी, लेकिन सरपंच व ग्राम विकास अधिकारी की मनमानी से मोटर नहीं डाली जा रही है।

नहीं चेती ग्राम पंचायत
3 साल पहले मोटर जली, लेकिन ग्राम पंचायत ने ट्युबवेल को राजनीति के चक्कर में आज तक वापस चालू नहीं की। जबकि ट्यूबवेल का सारा सामान भी नया आ चुका है और थोड़ी केबल कम पडऩे को लेकर ट्यूबवेल को चालू नहीं किया। ऐसे में छात्रों को पेयजल की भारी परेशानी है। छात्र पड़ोसियों के घरो से बाल्टीयां भरकर पानी लाने को मजबूर है।

इनका कहना है

ट्यूबवेल में मोटर लगाने के लिए ग्राम पंचायत से कई बार गुहार की, लेकिन किसी ने नहीं सुनी और ट्यूबवेल के आधी अंदर मोटर लटकी हुई है। ट्यूबवेल के बहार पाइप लाइन व केबल पड़े है। जलदाय विभाग को भी अवगत कराया, लेकिन जलदाय विभाग ने ग्राम पंचायत का हवाला देते हुए कहा कि ग्राम पंचायत के अधिन में तो वो ही ठीक कराएंगे। विनोद कुमार मीणा,प्रधानाध्यापक
इनका कहना है- राजकीय उच्च पा्रथमिक विद्यालय की ट्युबवेल में 150 फीट केबल कम पडऩे से मोटर को बीच में छोड दिया गया। अब बुधवार तक चालू करवा देंगे। बुद्वराजसिंह,ग्राम विकास अधिकारी ग्राम पंचायत सफेड़ बडी