स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

अंधेर नगरी चौपट राजा... जरुरत वहां अनदेखी, जहां ठीक वहां बहा रहे पैसा

Dharmendra Gaur

Publish: Sep 16, 2019 21:29 PM | Updated: Sep 16, 2019 21:29 PM

Nagaur

Nagaur latest PWD News in Hindi : अंधेर नगरी चौपट राजा...वाली कहावत नागौर शहर पर सटीक बैठती है। सार्वजनिक निर्माण विभाग इसका ताजा मिसाल है। शहर की खस्ताहाल सडक़ें लोगों को दर्द दे रही हैं तो कहीं विभाग की सडक़ों के नाम पर केवल कांक्रीट ही बची है। ऐसे स्थानों पर सडक़ निर्माण से विभागीय अधिकारियों को गुरेज है।

नागौर. अंधेर नगरी चौपट राजा...वाली कहावत नागौर शहर पर सटीक बैठती है। सार्वजनिक निर्माण विभाग PWD इसका ताजा मिसाल है। शहर की खस्ताहाल सडक़ें लोगों को दर्द दे रही हैं तो कहीं विभाग की सडक़ों के नाम पर केवल कांक्रीट ही बची है। ऐसे स्थानों पर सडक़ निर्माण से विभागीय अधिकारियों को गुरेज है। विभाग कलक्टे्रट के सामने उस सडक़ का फिर से निर्माण करवा रहा है, जो पहले से ही बहुुत अच्छी स्थिति में है। बात केवल पीडब्ल्यूडी तक ही सीमित नहीं है। राष्ट्रीय राजमार्ग-प्रशासन NH व नगर परिषद Nagar Parishad का भी कमोबेश यही हाल है। राजमार्ग पर खड्ढे हादसों को न्यौता दे रहे हैं तो शहर में सडक़ों के नाम पर केवल कंकड़ ही बचे हैं। Nagaur news


व्यर्थ लगा रहे खनू पसीने की कमाई
खस्ताहाल सडक़ें जानलेवा बन जाए जो बनें, इन्हें किसी की जान से कोई परवाह नहीं। इन्हें तो लकीर का फकीर बनकर चलना है। शहरवासी भी इसमें कम दोषी नहीं है। जहां सडक़ें नहीं है वहां सडक़ों का निर्माण करने के बजाय अच्छी स्थिति वा ली सडक़ को बेवजह चमकाया जा रहा है इसके बावजूद शहरवासी मौन है। किसी ने बेवजह की जा रही धन की बर्बादी को रोकने के लिए एक शिकायत तक करना उचित नहीं समझा। हर कोई चाहता है कि गलत काम नहीं हो, बिल्ली के गले में घंटी बांधने की पहल करे कौन। शायद यही कारण है कि नौकरशाही हर जगह हावी होकर जनता की खून पसीने की कमाई की बर्बाद कर रही है। Nagaur latest hindi news