स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

एक रुपया नारियल में हमसफर बने कपिल-प्रिती

Pratap Singh Soni

Publish: Nov 09, 2019 18:30 PM | Updated: Nov 09, 2019 18:41 PM

Nagaur

वर-वधु को आशीर्वाद देकर दी बधाई

चौसला. कस्बे में देवउठनी एकादशी पर बिना दहेज की शादी कर रिणवां परिवार के कपिल ने समाज के समक्ष मिसाल पेश की है। कस्बे में रहने वाले शिक्षक राजेन्द्र कुमार रिणवां ने पुत्र की शादी बिना दहेज लिए की है। महज एक रुपया नारियल में दुल्हन को घर लाए है। कस्बे से सादा बैंड बाजे के साथ जाजोध्या (झरना) के लिए शुक्रवार दोपहर 3 बजे बारात रवाना हुई। वहां कपिल और प्रीति एक-दूजे को वर-माला पहनाकर हमसफर बने। इसके बाद सभी रस्मे संपन्न कराई गई और बाराती भोजन करने के बाद रात 11 बजे वापस लौट आए। विवाह समारोह में बुद्धिजीवियों और लोगों ने हिस्सा लेकर वर-वधू को आशीर्वाद देकर बधाई दी तथा शनिवार तडक़े चार बजे दुल्हन के पिता ने एक रुपया नारियल देकर विदा किया।

बेटियों के प्रति समाज में बदलेगी सोच
शिक्षक राजेन्द्र कुमार के कपिल एकलौता बेटा है जो अभी पंजाब नैशनल बैंक में सहायक प्रबंधक के पद पर कार्यरत है। शादी में लोगों ने कहा कि बिना दहेज लेकर शादी करके समाज के सामने आदर्श प्रस्तुत किया है। ऐसे कार्यो से समाज में बेटियों के प्रति लोगों की सोच बदलेगी। शिक्षक राजेन्द्र का कहना है कि कपिल की और मेरी इच्छा थी शादी बिना दहेज की करेंगे, जो आज पूरी हो गई।

गांव में रही चर्चा
कस्बे में दूसरे दिन बस स्टैण्ड, चाय की थडिय़ों, दुकानों व सार्वजनिक स्थानों पर शादी चर्चा का विषय रही। लोग की जुबान पर एक ही बात रही कि मास्टर ने शादी बिना दहेज की है। शादी चर्चा का विषय इसलिए भी बनी कि कस्बे में बिना दहेज लिए होने वाली यह पहली ही शादी हुई है।

[MORE_ADVERTISE1]