स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

जैन समाज ने जयमल महाराज को किया याद

Sharad Shukla

Publish: Sep 11, 2019 12:42 PM | Updated: Sep 11, 2019 12:42 PM

Nagaur

Nagaur patrika latest news.जयमल महाराज के जन्मोत्सव पर विविध कार्यक्रमों के आयोजनNagaur patrika latest news

नागौर. श्वेताम्बर स्थानकवासी जयमल जैन श्रावक संघ के तत्वावधान में आचार्य सम्राट जयमल महाराज के 312 वें जन्मोत्सव के उपलक्ष में त्रिदिवसीय कार्यक्रम के दूसरे दिन मंगलवार को शारदापुरम स्थित नौ छतरियां जैन दादावाड़ी में नौ बजे से प्रवचन प्रभावक डॉ.पदमचंद्र महाराज का प्रवचन हुआ।

ब कोई नहीं आता मेरे जयमल गुरु आते है....

डॉ.पदमचंद्र महाराज का प्रवचन

धर्मसभा को संबोधित करते हुए डॉ.पदमचंद्र महाराज ने कहा कि आत्मा के हिताहित का ज्ञान प्राप्त करने के लिए विवेक बुद्धि जागृत करनी जरूरी है। गुण और दोष को अलग करने के लिए विवेक रूपी तृतीय नेत्र खोलना होगा। संसार की किसी भी प्रवृत्ति में यतना के जुड़ जाने से पाप कर्मों का बंध नहीं होता है और पहाड़ जितना पाप मात्र राई जितने रह जाते हैं। जहां विवेक है वहां धर्म है अन्यथा मनुष्य और पशु में किंचित मात्र भी अंतर नहीं होगा । कार में जिस प्रकार ब्रेक की अनिवार्यता है उसी प्रकार जीवन में विवेक की आवश्यकता है। तत्पश्चात ओसवालसमाज न्यात का आयोजन किया गया। जिसके लाभार्थी बरजीबाई,चम्पालाल,उदयचंद,ताराचन्द, निर्मलचंद, नरपतचंद, सुशीलकुमार चौरडिय़ा परिवार रहा।दोपहर दो बजे से शाम चार बजे तक अखिल भारतीय श्वेताम्बर स्थानकवासी जयमल जैन श्रावक संघ की साधारण सभा एवं नयी कार्यकारिणी का मनोनयन किया गया । इसमें नए राष्ट्रीय अध्यक्ष शिखरचंद बेताला और राष्ट्रीय महामंत्री विजयसिंह पींचा को नियुक्त किया गया।

दवाएं मिलने के बाद इनके चेहरों पर लौटी मुस्कराहट...!

विविध कार्यक्रमों के आयोजन

शाम को हुए ओसवाल समाज न्यात के लाभार्थी सुशीलादेवी,धरमचंद, अभयकुमार, संजयकुमार कांकरिया परिवार रहा। रात्रि आठ बजे से सांस्कृतिक कार्यक्रम में जयमल महाराज के जीवन चरित्र पर जे.पी.पी.जैन महिला फाउंडेशन एवं अखिल भारतीय जयमल जैन श्राविका मंडल द्वारा प्रस्तुतियां दी गयीं। जय जैन बालिका मंडल द्वारा मंगलाचरण प्रस्तुत किया गया। विचक्षण खतरगच्छ महिला मंडल ने गीतिका प्रस्तुत की। जयमल जैन महिला मंडल रायपुर ने जय जन्मोत्सव का प्रसंग प्रस्तुत किया।जयमल महिला मंडल बैंगलोर ने जयमल महाराज का विवाह एवं वैराग्य का दृष्टांत प्रस्तुत किया।जोधपुर महिला मंडल ने भूधर महाराज के प्रवचन का प्रसंग प्रस्तुत किया।जवाजा मंडल द्वारा जयमल महाराज का दीक्षा प्रसंग प्रस्तुत किया।जयमल जैन महिला मंडल नागौर ने पैरोडी प्रस्तुत की। गुवाहाटी महिला मंडल ने लांछा दे की दीक्षा,पीपाड़ महिला मंडल ने रामकुंवर बाई की विनती का प्रसंग प्रस्तुत किया।बैंगलोर,सैनणी आदि स्थानों से आए जयमल महिला मंडल द्वारा एक से बढकऱ एक प्रस्तुतियां दी गयी।साथ ही सांस्कृतिक कार्यक्रम के विजेताओं को पुरस्कृत किया गया एवं सांत्वना पुरस्कार भी प्रदान किए गए।मंच का संचालन संजय पींचा ने किया। देर रात तक कार्यक्रम चलता रहा।चातुर्मास एवं जयमल जयंती के लाभार्थी परिवारों का सम्मान किया गया।