स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

भारी वाहनों का आबादी क्षेत्र में हो प्रवेश निषेध

Pratap Singh Soni

Publish: Nov 09, 2019 18:48 PM | Updated: Nov 09, 2019 18:48 PM

Nagaur

रियांबड़ी में सीएलजी सदस्यों की बैठक, उपखंड अधिकारी व थानाधिकारी रहे मौजूद

रियांबड़ी. रियांबड़ी पुलिस चौकी परिसर में शनिवार को उपखंड अधिकारी गौरीशंकर शर्मा के निर्देशन में शांति समिति और सीएलजी सदस्यों की बैठक हुई। बैठक के दौरान उपखंड मुख्यालय के बस स्टेण्ड पर बेतरतीब खड़ी निजी बसों व वाहनों को व्यवस्थित तथा भारी वाहनों का आबादी इलाके में प्रवेश निषेध करने के मुद्दों पर विचार विमर्श हुआ। बैठक में उपखंड अधिकारी शर्मा ने कहा कि जीवन में आपसी भाईचारा जरूरी है। प्रेम और सोहार्द ही मानव के ऐसे गुण है जिससे बिगड़े काम भी बन जाते है। सीएलजी सदस्यों सहित प्रबुद्धजनों ने प्रेम और अपनापन का भरोसा दिलाया। इसके बाद बस स्टेण्ड पर बिगड़ी यातायात व्यवस्था में सुधार की मांग करते हुए आमजन को राहत प्रदान करने की मांग की। सदस्यों ने बताया कि बस स्टेण्ड पर बढ़ते ट्रेफिक के कारण आए दिन जाम की परेशानी से आमजन परेशाान है। ऑल राजस्थान दुकानदार संघ तहसील अध्यक्ष चेनाराम माली ने रियांबड़ी में कहा कि बजरी से भरे ऑवरलोडेड वाहनों को बाई पास मार्ग से निकाला जाना चाहिए ताकि आम व्यापारियों, लोगों सहित शिक्षण संस्थान को राहत मिलेगी। रियांबड़ी पूर्व सरपंच माणक चंद पाराशर ने बस स्टेण्ड सहित अन्य व्यस्ततम इलाकों में आवारा पशुओं के आतंक से हो रही दुर्घटनाओं पर अंकुश लगाने के लिए प्रशासन से मांग की। थानाधिकारी विमला चौधरी ने इस मामले को गंभीरता से लेते हुए शीघ्र कार्रवाई का आश्वासन दिया। थानाधिकारी चौधरी ने कहा कि जागरूकता और भामाशाह को प्रेरित कर सार्वजनिक स्थलों के प्रमुख चोराहों पर सीसी टीवी कैमरे लगवाए जाए। बैठक के दौरान भामाशाह रामकिशोर लाहोटी, ग्राम सेवा सहकारी समिति अध्यक्ष माणक चंद पाराशर, उपसरपंच कालू खां, जब्बार मोहम्मद, पूर्व ब्लॉक कांग्रेस महामंत्री जरार कुरैशी, तैयब मोहम्मद, पूर्व सरपंच सम्पत राज भाटी, रामनिवास भाटी, अहसान लोहार, पूर्व ब्लॉक अध्यक्ष अनवार मोहम्मद, मुरारी खंडेलवाल, पूर्व व्यापार संघ अध्यक्ष प्रकाश तातेड़, जरीफ मोहम्मद पठान, कानसिंह शेखावत, गिरधारी सैनी, सतार चौहान, हैड कांस्टेबल सुखाराम खोजा, अकरम खान, रामचंद्र, भूराराम सहित कई लोग मौजूद थे।

[MORE_ADVERTISE1]