स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

सरकारी योजनाओं का लाभ उठा रहे सरकारी कर्मचारियों से होगी वसूली नोटिस जारी

Dharmendra Gaur

Publish: Sep 10, 2019 12:24 PM | Updated: Sep 10, 2019 12:24 PM

Nagaur

राजस्थान के नागौर जिले के जायल उपखंड में सरकारी कार्मिकों ने लिया सरकारी योजनाओं का लाभ। उपखंड अधिकारी ने दिया नोटिस, कर्मचारियों से वसूली जाएगी लाभ की राशि।

जायल/नागौर. सरकार गरीब व जरूरतमंद कमजोर वर्ग के लोगों का कल्याण के लिए विभिन्न जन कल्याणकारी योजना चलाती है, आमतौर पर इन योजनाओं का लाभ वास्तविक हकदार तक नहीं पहुंचकर सक्षम वर्ग, यहां तक की सरकारी अधिकारी कर्मचारी भी अपने परिवार को गरीब बनकर इस योजना का लाभ उठा लेते हैं। जायल उपखण्ड क्षेत्र में सरकारी योजनाओं का नाजायज लाभ उठाने वाले सरकारी कार्मिकों के सामने मुसीबत खड़ी हो गई है, वर्षों तक अवैधानिक सरकारी कल्याणकारी योजनाओं का उठाया गया लाभ पुन: चुकाना पड़ रहा है। Nagaur news in hindi


वास्तविक हकदार लाभ से वंचित
जानकारी के अनुसार उपखण्ड अधिकारी सुरेश कुमार मेघवाल ने जब कार्यभार ग्रहण किया तो बड़ी तादाद में क्षेत्र के जरूरतमंद लोग खाद्य सुरक्षा में नाम जुड़वाने की अपील करने लगे, एक तरफ वास्तविक हकदार वंचित रहे वहीं लाभार्थियों का आंकड़ा 84 प्रतिशत से अधिक। उपखण्ड अधिकारी ने सरकारी कार्मिकों की राशनकार्ड संख्या के आंकड़े मंगवा लिए, कार्मिकों से स्वत: जन कल्याणकारी योजनाओं से हटने की गुहार लगाई गई फिर भी कई कार्मिक इसे इग्नोर करते रहे । Nagaur latest hindi news


97 कार्मिकों को नोटिस जारी कर 10 लाख की निकाली वसूली
उपखण्ड अधिकारी ने खाद्य सुरक्षा योजना के तहत लाभ उठा रहे 97 सरकारी कार्मिकों को नोटिस जारी कर दिए हैं, खाद्य सुरक्षा योजना के तहत 2 रूपये प्रति किग्रा अनाज का वितरण किया जाता है, उपखण्ड अधिकारी ने बाजार भाव 20 रूपये प्रति किग्रा मानते हुए अन्तर राशि 18 रूपये प्रति किग्रा 9 लाख 80 हजार की वसूली के नोटिस जारी कर दिए हैं, अब तक 26 कार्मिकों ने 3 लाख 25 हजार जुर्माना राशि खाद्य सुरक्षा योजना में बैंक चालान से जमा करवा दिए हैं ।


पेंशन सहित अन्य योजनाओं की निकलेगी वसूली
उपखण्ड अधिकारी सुरेश कुमार मेघवाल ने बताया कि सामाजिक सुरक्षा पेंशन योजना, छात्रवृत्ति सहित गरीब व कमजोर वर्ग के लिए संचालित योजनाओं का लाभ उठाने वाले सरकारी अधिकारी, कर्मचारी व सक्षम वर्ग को चिन्हित कर वसूली नोटिस जारी किए जाएंगे ।