स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

पांचला सिद्धा में किसान की मौत मामले में ब्राह्मण समाज का धरना जारी

Dharmendra Gaur

Publish: Nov 12, 2019 14:18 PM | Updated: Nov 12, 2019 14:18 PM

Nagaur

नागौर जिले के खींवसर थाना क्षेत्र के पांचला सिद्धा के थांबडिय़ासर गांव में जमीन विवाद मेंं किसान की मौत, धरना जारी, मौक पर भारी पुलिस जाब्ता तैनात।

नागौर. जिले के खींवसर थाना क्षेत्र के पांचला सिद्धा के थांबडिय़ासर गांव में जमीन विवाद को लेकर एक किसान के पीछे ट्रेक्टर दौड़ाने से रविवार को हुई किसान की मौत के मामले में खींवसर थाने के सामने ब्राह्मण समाज का धरना तीसरे दिन मंगलवार को भी जारी है। खींवसर विधायक नारायण बेनीवाल भी सुबह धरना स्थल पर पहुंचे हैं। परिजनों व समाज के लोगों ने आरोपियों को गिरफ्तार करने, दोषी पुलिस कर्मचारियों के विरुद्ध कार्रवाई की मांग की है। समाज के लोगों का कहना है कि मांगें नहीं मानने तक शव नहीं उठाएंगे। मामले की गंभीरता को देखते हुए नागौर एसपी डॉ. विकास पाठक ने विधायक नारायण बेनीवाल, कांग्रेस नेता प्रफुल्ल रिणवा की मौजूदगी में पीडि़त पक्ष से वार्ता की लेकिन खींवसर थानेदार को निलंबित करने की मांग को लेकर सहमति नहीं बन पाई।

[MORE_ADVERTISE1]

बीस साल पहले खरीदी थी जमीन जानकारी के अनुसार थाम्बडिय़ा निवासी चम्पालाल (56) पुत्र पुनाराम गौड़ रविवार शाम को अपने खेत गया था, जहां पहले से खेत पर कब्जा किए बैठे साटिका निवासी उम्मेदसिंह व उसके साथियों ने गुस्सा करते हुए चम्पालाल के पीछे ट्रेक्टर दौड़ाना शुरू कर दिया तथा ट्रेक्टर से कुचलकर मारना चाहा। जान बचाने के लिए चम्पालाल भागा, लेकिन हांफने से उसकी मौके पर मौत हो गई। मृतक के परिजनों का कहना है कि करीब 20 वर्ष पहले चम्पालाल ने साटिका निवासी उम्मेदसिंह से जमीन खरीदी थी, अब उम्मेदसिंह व उसके परिवार के लोगों की नीयत खराब हो गई और उन्होंने जमीन पर कब्जा कर लिया। इस जमीन को लेकर चम्पालाल ने पुलिस को शिकायत दी, लेकिन पुलिस ने लोगों को जमीन से बेदखल करने की कार्रवाई नहीं की।

पांचला सिद्धा में किसान की मौत

[MORE_ADVERTISE2]