स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

गंठीलासर में दो सगे भाइयों की मौत, मां, बहन व एक भाई की तबीयत भी बिगड़ी

Shyam Lal Choudhary

Publish: Sep 19, 2019 12:55 PM | Updated: Sep 19, 2019 12:55 PM

Nagaur

Death of two brothers in Ganthilasar, mother's health deteriorated, खबर सुनकर पिता भी हुए बेहोश
- फूड पॉइजनिंग का हो सकता है मामला, पोस्टमार्टम के बाद स्थिति होगी स्पष्ट

Death of two brothers in Ganthilasar, mother's health deteriorated नागौर. नागौर जिले के श्रीबालाजी थाना क्षेत्र के गंठीलासर गांव में बुधवार रात करीब साढ़े तीन बजे तबीयत बिगडऩे के बाद दो बच्चों की की मौत हो गई। दोनों सगे भाई हैं। आज सुबह दोनों भाइयों के शव नागौर के जेएलएन अस्पताल की मोर्चरी में रखवाए हैं, जहां मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम करवाया जाएगा। मौत के कारणों का खुलासा पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद ही हो पाएगा।
मृतक बच्चों के दादा ने बताया कि बुधवार शाम को खाना खाने के बाद बच्चे व उनकी मां करीब साढ़े सात बजे सो गए थे। रात करीब साढ़े तीन बच्चे बच्चों ने तबीयत खराब होने की शिकायत की तो उसने जाकर देखा, तब एक बच्चे की मौत हो चुकी थी तथा दूसरा तडफ़ रहा था, इस उन्होंने उसे अस्पताल ले जाने की तैयारी की। घर से बाहर निकले, तब तक दूसरे बच्चे की भी मौत हो गई। सुबह श्रीबालाजी थाना पुलिस को सूचना दी, जिस पर थानाधिकारी रमेशसिंह बि_ू मौके पर पहुंचे तथा दोनों के शव लेकर जेएलएन अस्पताल की मोर्चरी में रखवाए। थानाधिकारी बि_ू ने बताया कि मरने वाले एक बच्चे की उम्र करीब 8 वर्ष है, जबकि दूसरे की उम्र 5 साल है। दोनों का पोस्टमार्टम मेडिकल बोर्ड से करवाया जाएगा। रिपोर्ट आने के बाद ही मौत का कारण पता चल पाएगा।

मां-बाप व बहन की तबीयत भी बिगड़ी
परिवार के लोगों ने बताया कि बच्चों का पिता बीकानेर के खाजूवाला में मजदूरी करता है, जबकि गांव में बच्चे अपनी मां व दादा के साथ रहते हैं। दो बच्चों की मौत की सूचना पिता को दी गई, जिस पर वह जेएलएन अस्पताल पहुंचा, यहां बच्चों के शव देखकर वह खुद बेहोश हो गया। उधर, यह भी जानकारी मिली है कि गांव में बच्चों की मां व बहन की तबीयत भी खराब हो गई है और उल्टी-दस्त हो रही है।

फूड पॉइजनिंग का हो सकता है मामला
हालांकि मौत का कारण पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद ही पता चल पाएगा, लेकिन जिस प्रकार बच्चों की मौत के बाद मां व बहन की तबीयत खराब हुई है, उससे चिकित्सक अंदाजा लगा रहे हैं कि मौत का कारण फूड पॉइजनिंग हो सकता है।