स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

छोटे भाई के खेत में मिला लापता वृद्ध का शव

Suresh Vyas

Publish: Aug 23, 2019 22:22 PM | Updated: Aug 23, 2019 22:22 PM

Nagaur

थांवला के झांझरबावड़ी इलाके में पिछले चार दिनों से लापता बुजुर्ग उम्मेद सिंह का शव उसके ही छोटे भाई के खेत में मिला

थांवला. कस्बे के झांझरबावड़ी इलाके में पिछले चार दिनों से लापता बुजुर्ग उम्मेद सिंह का शव उसके ही छोटे भाई के खेत में पड़ा मिला। पुलिस ने हत्या की आशंका से इनकार नहीं किया है। मृतक के पुत्र ने चाचा व उसके काश्तकार के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कराया है। थानाधिकारी, पादूकलां एसएचओ व एफएसएल टीम अजमेर ने मौके पर जाकर साक्ष्य जुटाए। शव का राजकीय अस्पताल में मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम कराने के बाद परिजनों के सुपुर्द किया। पुलिस को मृतक के बेटे भगवान सिंह की रिपोर्ट के अनुसार 10-12 दिन पूर्व मृतक उम्मेदसिंह पुत्र रूघसिंह को उसके छोटे भाई लक्ष्मणसिंह उर्फ मेनसिंह ने अपने पास बुलाया और बरसों से जमीन बंटवारे को लेकर चल रहे विवाद को खत्म कराने की बात कही । साथ ही धोखे से सारी जमीन अपने नाम कराने सम्बन्धी कागजातों पर हस्ताक्षर करा लिए। बाद में अपने साथ हुए धोखे को भांपते ही उम्मेद सिंह ने इस बात का विरोध किया, लेकिन बात नहीं बनी तो 20 अगस्त को सुबह छोटे भाई लक्ष्मणसिंह के पास रह रही अपनी मां से इस बात की शिकायत करने गए, लेकिन वापस नहीं लौटे। काफी तलाश के बाद गुमशुदगी 21 अगस्त को पुलिस थाने में दर्ज कराई। इस दौरान बार-बार आरोपी चाचा लक्ष्मणसिंह एवं खेत के काश्तकार पांचूराम सिरीवाल से मनोहर, नरपतसिंह एवं अन्य परिजनों ने बुजुर्ग उम्मेदसिंह के बारे में पूछा जिसके जवाब में दोनों ने उम्मेदसिंह के खेत पर आने की बात तो कबूली, लेकिन तुरंत वापस लौटने बात भी कही। इस प्रकार लापता भाई की सारसंभाल करने के बजाय आरोपी सुबह शाम उसी खेत पर आता जाता रहा, जहां शुक्रवार सुबह पुलिस को बाजरे की फसल के बीच मृतक की सड़ी-गली लाश मिली। फिलहाल पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।