स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

बीएसएनएल ईयू बनी देश की नंबर वन यूनियन

Sharad Shukla

Publish: Sep 20, 2019 12:37 PM | Updated: Sep 20, 2019 12:37 PM

Nagaur

Nagaur patrika latest news. मुंबई, पश्चिम बंगाल, केरला, उत्तरप्रदेश, हरियाणी एवं हिमाचंल सरीखे राज्यों में दोनों के बीच जीत का औसत न्यूनतम रहा Nagaur patrika latest news

नागौर. बीएसएनएल ईयू यूनियन देश में पहले नंबर पर दूरसंचार की यूनियनों में हो गई है। इसको पूरे देश में कुल 43.27 प्रतिशत वोट मिले हैं। दूसरे नंबर पर रही एनईएफटी को 34.72 प्रतिशत मत प्राप्त कर संतोष करना पड़ा। महाष्ट्र, तमिलनाडू, तेलंगाना, कर्नाटक, उत्तरप्रदेश सरीखे राज्यों में दोनों के बीच कांटे की टक्कर रही। इन राज्यों में राजस्थान की अपेक्षा दो से ढाई गुना ज्यादा वोट बीएसएनएल ईयू को मिले हैं। बीएसएनल के अधिकारियों का कहना है कि अब बीएसएनएल ईयू के प्रतिनिधिधियों को जिला एवं राज्य की काउंसिल में भी शामिल किया जाएगा। देशभर में कुल पड़े वोटों की संख्या एक लाख 10 हजार 973 रही। इनमें से बीएसएनएल ईयू को 48029 वोट और एनएफटीई को 38535 मत मिले। जीत-हार का अंतर महज 9494 मतों का रहा।

पढ़ाने वाले शिक्षक खुद ही नहीं समझ पाए कि क्या कर दिया यह...!
किसको, कहां कितने मत मिले
राज्य बीएसएनएल ईयू एनएफटीई
आंध्रप्रदेश 3131 3077
बिहार 771 1708
छत्तीसागढ़ 273 414
गुजरात 3167 3386
केरला 4001 373
मध्यप्रदेश 2456 1896
उड़ीसा 1001 744
पंजाब 1837 1660
उत्तराखण्ड 524 303
तमिलनाडू 2831 3838
मुंबई 99 142
यूपीईस्ट 1830 2398
यूपीवेस्ट 1457 1551
झारखण्ड 109 186
हरियाणा 1003 1068
महाराष्ट्र 4923 4239
हिमांचल प्रदेश 842 503
कर्नाटक 3770 3133
राजस्थान 2626 1742
पश्चिम बंगाल 2138 466
चेन्नई 1263 1558
ज/का. 353 529
आसाम 1855 475

स्टेट नोडल आफिसर पहुंचे तो चमकता मिला जेएलएन

मनाई जीत की खुशी
देश में पहले नंबर पर यूनियंस चुनाव में जीत मिलने पर बीएसएनएल ईयू से जुडे कर्मियों ने कार्यक्रम का आयोजन किया। यूनियन की ओर कर्मचारियों के हितों के लिए निरंतर संघर्ष रहने के लिए आश्वस्त किया गया। सहायक महाप्रबंधक प्रेमराज नोगिया ने बताया कि गत 18 सितंबर को देशभर में हुई मतगणना के बाद मतों की स्क्रीनिंग कर औसत निकाला गया। इसमें बीएसएनएल ईयू का प्रदर्शन काफी बेहतर रहा।

मेडिकल कॉलेज भूमि पट्टा आवंटन में प्रक्रिया के लिए पीएमओ हुए अधिकृत
नागौर. मेडिकल कालेज के लिए जमीन आवंटन का 50 बीघा को प्रस्तावित रूप में राज्य सरकार को भेजने के बाद अब एक और राह आसान हो गई है। स्थानीय स्तर पर आगामी कार्रवाइयों में अधिकारिक तौर पर हस्ताक्षर आदि के लिए चिकित्सा एवं स्वास्थ्य सेवाएं जयपुर की ओर से जवाहरलाल नेहरू चिकित्सालय के पीएमओ को अधिकृत कर दिया गया है। जारी निर्देश में स्पष्ट रूप कहा गया है कि मेडिकल कॉलेज खोले जाने के संदर्भ में आवश्यक भूमि के पट्टा आवंटन की कार्रवाई के लिए प्रमुख चिकित्साधिकारियों को हस्ताक्षरकर्ता के रूप में अधिकृत किया जाता है। उल्लेखनीय है कि करीब एक पखवाड़ा पूर्व आए उच्चस्तरीय तीन सदस्यीय अधिकारियों के दल ने नागौर मे जेएलएन एवं इसके आसपास की जमीन का मौका मुआयना किया था।

अब नागौर में ही मिल जाएंगे बीमारियों के विशेषज्ञ चिकित्सक...!

इस दौरान पर्याप्त भूमि की अनुपलब्धता का प्रकरण सामने आने पर जिला प्रशासन की ओर से निर्धारित मापदंड के तहत भूखण्ड उपलब्ध कराने के लिए आश्वस्त किया गया था। अब जिला कलक्टर दिनेश यादव की ओर से आवंटन के संदर्भ में आवश्यक खानापूर्ति कर प्रस्तावित रूप में राज्य सरकार को भेजवा दिया गया। इसके बाद से जिले को अब मेडिकल कॉलेज का तोहफा मिलने की उम्मीदें बढ़ गई हNagaur patrika latest news