स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

पापा के ऑफिस जाकर उनकी परेशानियों से रुबरू हुई बेटियां

Dharmendra Gaur

Publish: Sep 19, 2019 20:38 PM | Updated: Sep 19, 2019 20:38 PM

Nagaur

Bitiya At Work : नागौर में बेटियों ने पापा के ऑफिस जाकर उनके काम के बारे में सीखा। उनका मानना है कि पिता के कार्य स्थल पर उनको मिल रही चुनौतियों से सीखना भी एक अनुभव है।

जायल. आज पापा के ऑफिस में जाकर विद्यालय निर्देशन व शिक्षा विभाग की जानकारी प्राप्त करके मुझे बहुत गौरव महसूस हुआ। मुझे फख्र है कि मैं एक शिक्षा के पुजारी की बिटिया हूं। हिना

ऑफिस : नेहरु बाल निकेतन, जायलबिटिया का नाम : हिना

पिता का नाम : उमरदीन शाह, निदेशक

छोटी खाटू. आज मुझे पापा के ऑफिस में उनकी कुर्सी पर बैठने का मौका मिला। वह अपने विद्यार्थियों को शिक्षा का पाठ किस तरह पढ़ाते हैं उस बारे में जाना। मैं भविष्य में प्रशासनिक सेवा में जाकर समाज सेवा करना चाहती हूं। प्रकृति चौधरीऑफिस : राउमावि खरवालियां, छोटीखाटू

बिटिया का नाम : प्रकृति चौधरीपिता का नाम : सुरेन्द्र ठोलिया, व्याख्याता

छोटी खाटू. पापा के हॉस्पिटल में आकर उनके काम के बारे में मैने जानकारी ली। मरीजों के स्वास्थ्य की जांच कैसे होती है यह जाना। मैं भी बड़ी होकर पापा की तरह डॉक्टर बनूंगी और लोगों की सेवा करूंगी। प्रियांशी बलारा

ऑफिस : जीडी हॉस्पिटल, छोटीखाटूबिटिया का नाम : प्रियांशी बलारा

पिता का नाम : डॉ. राकेश चौधरी

पापा के साथ कम्प्यूटर पर बैठकर अच्छा लगा। ई टिकिट बनना, टाईपिंग, छपाई, कार्ड आदि बनाना, रोजगार आवेदन, छात्रवृत्ति के आवेदन, बिजली व पानी के बिल आदि भरने, जाति व मूलनिवास प्रमाण पत्र बनाने सहित ई मित्र पर होने वाले विभिन्न कार्यों की जानकारी ली। दिनभर कम्यूटर पर बैठकर कार्य करने तथा बेरोजगार युवाओं को विभिन्न प्रतियोगिता परीक्षाओं व आवेदन के बारे में जानकारी देने व तैयारी के लिए श्रेष्ठ गाइड के चयन में सहायता जैसे कार्य अच्छे लगे।जानवी शर्मा व मानवी शर्मा

ऑफिस : गणपति कम्यूटर्स, कुचेराबिटिया का नाम : जानवी शर्मा व मानवी शर्मा

पिता का नाम : भरत कुमार शर्मा