स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

शराब मुक्त अभियान के तहत निकाली जागरुकता रैली

Suresh Vyas

Publish: Oct 21, 2019 18:40 PM | Updated: Oct 21, 2019 18:40 PM

Nagaur

शहर के चिल्ड्रन पार्क में शराबबंदी आंदोलन के तहत सोमवार को जागरुकता रैली निकाली

डेगाना. शहर के चिल्ड्रन पार्क में शराबबंदी आंदोलन के तहत सोमवार को जागरुकता रैली निकाली गई। पूरे देश भर में चलाए जा रहे शराबबंदी आंदोलन की राष्ट्रीय अध्यक्ष पूजा भारती छाबड़ा सोमवार को डेगाना पहुंची। शहर में पूरे दिन शराबबंदी आंदोलन को लेकर लोगों में जबरदस्त जोश देखने को मिला। जागरुकता रैली में सबसे ज्यादा जोश विद्यार्थियों में देखने को मिला। मरुधर डिफेन्स पब्लिक स्कूल लंगौड़, डेगाना के सार्वाधिक छात्र-छा़त्राओं ने निदेशक चन्द्रशेखरसिंह चांपावत के नेतृत्व में विशेषकर जागरुकता रैली में भूमिका निभाते हुए बैनर व जागरुकता पोस्टरों के साथ जमकर नारेबाजी की। इसी प्रकार वीर तेजा विद्या मन्दिर उच्च माध्यमिक विद्यालय डेगाना, विद्या सागर उच्च माध्यमिक विद्यालय, सरस्वती बाल निकेतन स्कूल, भवानी बाल निकेतन स्कूल डेगाना व जीसीआई डेगाना सहित स्कूलों के छात्रों ने जागरुकता का संदेश दिया। आयोजन के समन्वयक कानाराम कस्वां व रामनिवास बेनीवाल ने बताया कि शहर के चिल्ड्रन पार्क से स्कूली छात्र-छात्राओं द्वारा झंडे, बैनर और शराब के खिलाफ नारे लगाते हुए रैली को शराबबंदी आंदोलन राष्ट्रीय अध्यक्ष पूजा भारती छाबड़ा, पालिका चेयरमैन राधाकिशन बिन्दा, महिला पार्षद भगवती मुण्डेल, मंजू पुरोहित सहित ने विधिव्त हरी झण्डी दिखाकर रवानगी दी। रैली पार्क से अस्पताल चौराहे से सदर बाजार, रेलवे स्टेशन होते हुए पालिका से होकर शहर के मुख्य चौराहों से होते हुए आयोजन स्थल मेला मैदान में पहुंची। आयोजन का आकर्षण शराबबंदी आंदोलन की राष्ट्रीय अध्यक्षा पूजा भारती छाबड़ा का लोगों ने जमकर बाजारों में अभिनदंन किया। इस मौके पर संयोजक कानाराम कस्वां, रामनिवास बेनीवाल, बीएसएनएल कनिष्ठ दूरसंचार अभियंता गोपाल बाबल, मरूधर डिफेन्स पब्लिक स्कूल लंगौड़, डेगाना निदेशक चन्द्रशेखरसिंह चांपावत, पार्षद विरेन्द्र रिणंवा, जितेन्द्र दाधीच, विनोद गिलड़ा, बिरदीचंद तोषनीवाल, मूलाराम बेनीवाल, सरपंच नदंसिंह माण्डल, पवन पुरोहित, जयेन्द्रसिंह बीका, रामनिवास मेहरा, पूनाराम गोदारा, पूनाराम चोयल डोडियाना, कैलाश पारीक सहित बड़ी संख्या में लोग मौजूद थे।