स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

आयुष्मान भारत योजना के तहत स्मार्ट कार्ड का उपयोग बढ़ाएं अफसर

Murari Soni

Publish: Sep 19, 2019 19:34 PM | Updated: Sep 19, 2019 19:34 PM

Mungeli

बैठक: कलेक्टर ने ली अधिकारियों की बैठक, दिए निर्देश

मुंगेली. कलेक्टोरेट स्थित मनियारी सभाकक्ष में कलेक्टर डॉ. सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे ने बुधवार को खण्ड चिकित्सा अधिकारियों, टीकाकरण अधिकारी, जिला क्षय नियंत्रण अधिकारी एवं खण्ड कार्यक्रम समन्वयकों की बैठक ली। उन्होंने क्षय नियंत्रण कार्यक्रम, आयुष्मान योजना एवं हेल्थ एवं वेलनेस सेंटर, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन अंतर्गत गठित एवं संचालित जिला स्वास्थ्य समिति की विभिन्न जिला स्तरीय समितियों (जिला स्वास्थ्य समिति-शासी निकाय एवं कार्यकारी समिति, मातृ एवं शिशु मृत्यु अंकेक्षण समिति, जिला गुणवत्ता निर्धारण समिति, साप्ताहिक ऑयरन फोलिक एसिड के प्रगति की समीक्षा की। उन्होंने चिकित्सा अधिकारियों को निर्देशित किया कि आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत स्मार्ट कार्ड का उपयोग बढ़ायें। ताकि आयुष्मान भारत योजना से अधिक से अधिक राशि प्राप्त हो सके। उन्होंने संस्थागत प्रसव को बढ़ावा देने एवं सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों, उप स्वास्थ्य केंद्रों को क्रियाशील बनाने खण्ड चिकित्सा अधिकारियों को निर्देश दिए।
कलेक्टर डॉ. भुरे ने टीकाकरण अधिकारी और खण्ड चिकित्सा अधिकारियों से कहा कि शत प्रतिशत बच्चों को टीकाकरण कराना सुनिश्चित करें। कायाकल्प के अंतर्गत समस्त अस्पतालों में सुविधा बढ़ायें। किशोरी बालक-बालिकाओं को आयरन की गोली दें। उन्होंने कहा कि जननी सुरक्षा योजना में निजी अस्पतालों को मान्यता न दें। कलेक्टर ने 102 महतारी एक्सप्रेस और 108 संजीवनी एक्सप्रेस उपलब्धता के संबंध में जानकारी ली। उन्होंने महिला बाल विकास के परियोजना अधिकारियों को निर्देशित किया कि गर्भवती पंजीयन में स्वास्थ्य विभाग के एएनएम का सहयोग करें। जननी सुरक्षा योजना के अंतर्गत हितग्राहियों को हर माह राशि का वितरण किया जाना चाहिए।
कलेक्टर ने अस्पताल भवनों की स्वीकृत कार्य, प्रारंभ, अप्रारंभ कार्य एवं प्रगति के संबंध में जानकारी ली। सीजीएमएससी के प्रबंधक को निर्देशित किया कि स्वीकृत कार्य का टेण्डर निकालें। बैठक में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. सीपी आगरे, सिविल सर्जन डॉ. आरके भुआर्य, जिला कार्यक्रम प्रबंधक उत्कर्ष तिवारी व जिला क्षय रोग नियंत्रण अधिकारी डॉ. सुदेश रात्रे सहित अन्य चिकित्सा अधिकारी उपस्थित थे।