स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

पथरिया-मुंगेली मुख्य मार्ग जर्जर, आवागमन में हो रही है परेशानी

Murari Soni

Publish: Jul 30, 2019 20:23 PM | Updated: Jul 30, 2019 20:23 PM

Mungeli

अधिकारी व जनप्रतिनिधि नहीं दे रहे ध्यान

पथरिया. विकास खंड मुख्यालय को जिला मुख्यालय से जोडऩे वाला पथरिया-मुंगेली मुख्य मार्ग छोटे छोटे गढ्ढो में तब्दील हो चुका है। लगभग 18 किलोमीटर का यह मार्ग क्षेत्र के हजारों लोगों को जिला मुख्यालय पहुंचाता है और फिर वापस लाता है। यह मार्ग विभागीय अधिकारियों व जनप्रतिनिधियों की उपेक्षा के चलते काफी जर्जर अवस्था में पहुंच गया। सडक़ पर जगह-जगह बड़े- बड़े गड्ढे होने के कारण हमेशा दुर्घटना की आशंका बनी रहती है।
बताते चलें कि पथरिया से मुंगेली को जोडऩे के लिए पुरानी जर्जर सडक़ पर तीन साल पूर्व ही निर्माण कार्य कराया गया था, जिससे क्षेत्र के लोगों को जिला मुख्यालय जाने में सुविधा हो सके। अब यह सडक़ जर्जर हो गयी है, जिससे लोगों को अपनी जान जोखिम में डालकर यात्रा करना पड़ रहा है। आमजनों का कहना है कि सडक़ निर्माण में नियमों का पालन नहीं किया गया। यही कारण है कि तीन सालों में ही पूरी सडक़ पर बड़े-बड़े गड्ढे बन गए हैं।
क्षेत्रवासियों का कहना है कि पूरी सडक़ पर बने गड्ढे जानलेवा बन गए हैं। इसके साथ ही ग्राम चन्दरगगड़ी के पास से निकले जमहा बैराज से नहर निकालने के लिए सडक़ को काट दिया गया था और अस्थाई तौर पर आवागमन की व्यवथा की गई है। जहां सडक़ के दोनों ओर बीस से तीस फिट गहरी निर्माणाधीन नहर है। यहां सडक़ में मुरुम मिट्टी अव्यवस्थित ढंग से डाले जाने के कारण यात्री बसों के निकलने में काफी परेशानी हो रही है। यहां हमेशा दुर्घटना की आशंका बनी रहती है। वहीं सिंचाई विभाग द्वारा बनवायी जा रही नहर का काम अभी पिछले ६ महीने से बंद पड़ा है और मिट्टी मुरूम सडक़ पर फैला होने के कारण आए दिन दुर्घटनाएं होती रहती हैं।
लोनिवि का कार्यालय नहीं:
पथरिया ब्लाक मुख्यालय में जहां सभी विभाग के एसडीओ का कार्यालय है और सम्बंधित विभाग के अधिकारी बैठकर योजनाओं का क्रियान्वयन कराते हैं, वहीं लोक निर्माण विभाग के एसडीओ का न ही कार्यालय है और न ही वे यहां नियमित उपथिति होते हैं। यही कारण है कि सडक़ों के खस्ता हाल होने के बाद भी उसके मरम्मत के लिए कोई कार्रवाई नहीं हो पा रही है।
इसी तरह नगर में स्थित लोक निर्माण विभाग के स?को का हाल बुरा है नगर में किसी दिशा से भी प्रवेश हो स्वागत ब?े ब?े कीच? युक्त गढ्ढो से ही होता है ।