स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

अवैध कब्जाधारियों पर होगी कार्रवाई, 72 को नोटिस जारी

Murari Soni

Publish: Jul 19, 2019 12:40 PM | Updated: Jul 19, 2019 12:40 PM

Mungeli

जागा प्रशासन: राजस्व भूमि पर अवैध कॉलोनी बनाए जाने का मामला

पेंड्रा. नगर पंचायत पेंड्र्रा क्षेत्र के राजस्व भूमि पर बड़े पैमाने पर मिलीभगत का खेल कर अवैध कॉलोनी बसाने के मामले में तहसीलदार पेंड्रा द्वारा ७२ लोगों पर अतिक्रमण का प्रकरण दर्ज कर नोटिस जारी किया है। एक माह के भीतर सभी को नोटिस का जवाब दाखिल करना है तत्पश्चात अतिक्रमण की कार्रवाई की जाएगी। पत्रिका संवादाता ने इस मामले को प्रमुखता से उठाया था। खबर प्रकाशन के बाद तत्कालीन एसडीएम नूतन कंवर ने नायाब तहसीलदार को जांच का जिम्मा सौंपा था और जमीन की खरीदी, बिक्री व निर्माण पर रोक लगा दी थी।
गौरतलब है कि तहसील कार्यालय से एक किलोमीटर की दूरी पर स्थित डॉ.भंवर सिंह पोर्ते शासकीय महाविद्यालय के पास बड़े झाड़़ के जंगल है, जो राजस्व मद की भूमि है। पेंड्रा नगर पंचायत क्षेत्र में आने वाले इस राजस्व भूमि पर बड़े पैमाने पर मिलीभगत कर करीब ७२ लोगों ने कच्चे पक्के मकान बना लिया हैं। मामला यहीं नहीं थमा नगर प्रशासन ने पानी के कनेक्शन दे दिए करा दी और सीसी रोड तक का निर्माण करा दिया। इसके आगे बिना जांच के बिजली विभाग ने भी सभी मकानों में आपूर्ति भी बहाल कर दी। अवैध निर्माण के बावजूद सभी सर्वसुविधायुक्त आवास में लोग रहने लगे। इतना सबकुछ होने के बाद भी राजस्व विभाग बेफ्रिकी की नींद में था। सूत्रों की मानें तो यह खेल पिछले दस सालों से जारी था।  पिछले दिनों अतिक्रमण के जांच में उक्त राजस्व भूमि पर अवैध निर्माण के मामले का खुलासा हुआ। आनन फानन में तत्कालीन एसडीएम नूतन कंवर ने नायब तहसीलदार अविनाश खुजूर को जांच का जिम्मा सौंपा। साथ ही उक्त क्षेत्र में जमीन खरीदी, बिक्री पर तत्काल रोक लगा दिया।  जांच रिपोर्ट मिलने के बाद तहसीलदार घनश्याम तंवर ने ७२ लोगों के खिलाफ अतिक्रमण प्रकरण दर्ज कर नोटिस जारी किया है।
&जांच में राजस्व भूमि पर अतिक्रमण पाया गया। इस संबंध में विस्तृत जांच रिपोर्ट तहसीलदार को सौंप दी गई है। करीब ७२ लोगों ने कच्चे पक्के मकान बना लिए हैं, जिनपर अतिक्रमण करने का मामला है।
अविनाश खुजूर, नायाब तहसीलदार, पेंड्रा
&नायाब तहसीलदार से प्राप्त जांच रिपोर्ट के बाद ७२ लोगों पर अतिक्रमण का प्रकरण दर्ज कर एक माह में जवाब दाखिल करने को कहा गया है। जवाब प्राप्त होने के बाद अतिक्रमण की कार्रवाई की जाएगी।
घनश्याम तंवर, तहसीलदार पेंड्रा