स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

पीएमसी बैंक मामला : मुख्यमंत्री ने चुनाव के बाद खाताधारकों को दिया न्याय का भरोसा

Nagmani Pandey

Publish: Oct 21, 2019 02:39 AM | Updated: Oct 21, 2019 02:39 AM

Mumbai

पीएमसी बैंक मामला : मुख्यमंत्री ने चुनाव के बाद खाताधारकों को दिया न्याय का भरोसा

सीएम ने दिया विलय का संकेत

मुंबई . पीएमसी बैंक घोटाला मामले में रविवार को पीड़ित खाताधारकों ने पूर्व सांसद डॉ संजीव नाईक के साथ मुख्यमंत्री से मुलाकात किए | इस दौरान पीएमसी बैंक के खाताधारकों ने मुख्यमंत्री से मदद की गुहार लगाते हुए निवेदन दिया | जिस पर मुख्यमंत्री ने चुनाव समाप्त होते ही खाताधारकों को जल्द से जल्द न्याय दिलाने का भरोसा दिलाया | इस दौरान डॉ संजीव नाईक के साथ ही गगनदीप कोहली , कौसल किशोर मिश्रा ,गुरुवीक्रम सिंह ,संतोष देशपांडे ,राकेश सिंह सहित कई खाताधारक उपस्थित थे |

जानकारी हो की पीएमसी बैंक के नाराज 100 से ज्यादा खाताधारकों ने शनिवार को दक्षिण मुंबई स्थित केंद्रीय बैंक के मुख्यालय के सामने प्रदर्शन किया। दोपहर पौने बारह बजे के आसपास हुए प्रदर्शन में महिलाएं भी शामिल थीं। खाताधारकों ने हाथों में तख्तियां ले रखीं थीं और आरबीआई के खिलाफ नारेबाजी कर रही थीं। इस दौरान एक बुजुर्ग महिला और पुरुष की अचानक तबीयत बिगड़ गई। पुलिस की मदद से इन्हें अस्पताल पहुंचाया गया | पहले माना जा रहा था कि पीएमसी बैंक में 4,355 करोड़ रुपए की गड़बड़ी हुई है। लेकिन, बैंक की आंतरिक जांच रिपोर्ट के मुताबिक यह घोटाला 6,000 करोड़ रुपए का है। रियल एस्टेट कारोबार से जुड़ी कंपनी एचडीआईएल को दिया 4,355 करोड़ रुपए का कर्ज डूब चुका है।

पांच आरोपी गिरफ्तार
पीएमसी बैंक की लुटिया डुबोने के मामले में पुलिस ने बैंक के पूर्व अध्यक्ष वरयाम सिंह, निलंबित एमडी जॉय थॉमस और एक डायरेक्टर के साथ ही एचडीआईएल के प्रमोटर राकेश व सारंग वधावन को गिरफ्तार किया है। अब तक एचडीआईएल की 3500 करोड़ रुपए से ज्यादा की संपत्तियां जब्त की जा चुकी हैं। वरयाम सिंह और थॉमस के नाम भी करोड़ों की प्रॉपर्टी मिली है, जिसे जब्त करने की प्रक्रिया चल रही है।

सीएम ने दिया विलय का संकेत
पीएमसी बैंक के परेशान खाताधारकों को मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने भरोसा दिया है कि उनके हितों को नुकसान नहीं पहुंचने दिया जाएगा। फडणवीस ने यह संकेत भी दिया कि किसी दूसरे बैंक के साथ पीएमसी बैंक का विलय किया जा सकता है। फडणवीस ने कहा कि घोटाले में फंसे बैंक को उबारने के लिए पैकेज राज्य सरकार नहीं दे सकती। यह मामला रिजर्व बैंक के अधिकार क्षेत्र में आता है। उन्होंने यह भी बताया कि पीएमसी बैंक के मामले पर उनकी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण से बातचीत हुई है। पीएमसी बैंक की शाखाएं देश के छह राज्यों में फैली हैं। बैंक के 15 लाख से ज्यादा खाताधारक हैं।