स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

पाकिस्तान और उनके आतंकियों के निशाने पर मुंबई

Nagmani Pandey

Publish: Aug 18, 2019 13:34 PM | Updated: Aug 18, 2019 13:34 PM

Mumbai

पाकिस्तान और उनके आतंकियों के निशाने पर मुंबई

सुरक्षा में तैनात होगा ब्रह्मोस कवच

समुद्र, जमीन व हवा में मौजूद टारगेट को ध्वस्त करने में सक्षम ब्रह्मोस मिसाइल

 

नागमणी पांडेय

मुंबई . पहले कश्मीर आए 370 हटाना उसके बाद संयुक्त राष्ट्र द्वारा पाकिस्तान को एक के बाद एक पटखनी से बौखलाया पाकिस्तान की सेना व उनके जिहादी फिर से देश की आर्थिक राजधानी मुंबई को निशाना बनाना चाहते है। इसके लिए अब मुंबई को सुरक्षित रखने के लिए सरकार द्वारा बड़ा निर्णय लिया गया है । रक्षा मंत्रालय के सूत्रों की मानें तो जल्द ही मुंबई की सुरक्षा के लिए ब्रह्मोस कवच लेने की तैयारी की है।
देश की आर्थिक राजधानी कही जानेवाली मुंबई अब तक कई आतंकी हमले झेल चुकी है । 1993 बम ब्लास्ट , 2002 में बस में बम धमाका, 2003 में विलेपार्ले स्टेशन के बाहर धमाका, 2003 में लोकल में सीरियल धमाका, उसके बाद जुलाई 2011 में बम धमाका उसके बाद 26/11 आतंकी हमला इस तरह के आतंकी हमला झेल चुके है ।इसके बावजूद भी आए दिन आतंकी हमला होने का खतरा बना रहता है ।

370 हटाये जाने पर पाकिस्तान के निशाने पर मुंबई

इस बार कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद पाकिस्तान सेना और उनके आतंकियों के निशाने पर मुंबई है। इसी के मद्देनजर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने अपनी पहली रक्षा अधिग्रहण परिषद (डीएसी) की बैठक में भारतीय नौसेना के लिए दो ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल बैटरी को खरीदने का निर्णय ले लिया है। इसके अलावा लगभग 12 हजार करोड़ रुपए की हथियार प्रणालियों के अधिग्रहण का फैसला किया है। दो मोबाइल मिसाइल तटीय बैटरी को नौसेना के लिए अधिग्रहित किया जाना है। 1400 करोड़ रुपए की ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल बैटरी को मुंबई में कार्यान्वित किया जाएगा।

समुद्री तट और शहर रहेंगे सुरक्षित
सूत्रों की माने तो नौसेना अपने मौजूदा सिस्टम को बदलने के लिए दो ब्रह्मोस मिसाइल बैटरियों का इस्तेमाल करना चाहती है। इस बैटरी की मदद से पश्चिमी समुद्री तट और शहर सुरक्षित रहेंगे। ब्रह्मोस मिसाइल समुद्र, जमीन व हवा में मौजूद टारगेट को ध्वस्त करने में सक्षम है। यह सुरक्षा कवच का काम तो करेगी ही इसी के साथ दुश्मन युद्धपोत को नष्ट करने में भी सक्षम होगी।