स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

अब सीईटी पास छात्रों को नहीं होगी कोई परेशानी, जनवरी के पहले सप्ताह में पुणे से शुरू होगी ये प्रक्रिया ?

Rohit Kumar Tiwari

Publish: Dec 14, 2019 21:26 PM | Updated: Dec 14, 2019 21:26 PM

Mumbai

सीईटी ( CET ) के बाद प्रवेश में अब छात्रों को नहीं होगी परेशानी, सीईटी सेल ( Cell) ने किया विभागीय स्तर पर कार्यशाला का आयोजन, छह विभागीय स्तरों पर कॉलेजों के प्रतिनिधियों ( Colleges Representatives ) के लिए कार्यशाला, जनवरी के पहले सप्ताह में पुणे से होगी शुरू

मुंबई. सीईटी सेल ने जनवरी में विभागीय स्तर पर एक कार्यशाला की योजना बनाई है, ताकि छात्रों को सीईटी के बाद प्रवेश पाने में कठिनाइयों का सामना न करना पड़े। प्रवेश में छात्रों की कठिनाइयों को दूर करने के लिए राज्य में छह विभागीय स्तरों पर कॉलेजों के प्रतिनिधियों के लिए कार्यशालाओं का आयोजन करके सीईटी सेल अब कॉलेजों की मदद करने के लिए पहुंच रहा है। यह कार्यशाला जनवरी के पहले सप्ताह में पुणे से शुरू होगी।

सीईटी सेल और प्रौद्योगिकी विभाग में हलचल

चार हजार छात्रों ने डाउनलोड ही नहीं किया परीक्षा का हॉल टिकट

[MORE_ADVERTISE1] [MORE_ADVERTISE2]

3 हजार 755 कॉलेज में प्रति वर्ष प्रवेश परीक्षा...
राज्य भर में अमरावती, औरंगाबाद, मुंबई, नागपुर, नाशिक, पुणे, कला निदेशालय के 10 महाविद्यालय, आयुष निदेशालय के 186 महाविद्यालय, उच्च शिक्षा निदेशालय के 951 महाविद्यालय, चिकित्सा शिक्षा निदेशालय के 313 महाविद्यालय, मत्स्य पालन और डेयरी शिक्षा निदेशालय के 4 कॉलेज, कृषि शिक्षा विभाग के 177 कॉलेज हैं। तकनीकी शिक्षा निदेशालय के 2 हजार 114 कॉलेजों जैसे 3 हजार 755 कॉलेज हर साल केंद्रीय प्रवेश प्रक्रिया में भाग लेते हैं। इसके माध्यम से चार लाख से अधिक सीटों के लिए राज्य सामाईक प्रवेश परीक्षा विभिन्न वर्गों के माध्यम से ली जाती है। इस पूर्व प्रवेश परीक्षा के आधार पर छात्रों को सभी विषयों के व्यावसायिक पाठ्यक्रमों में प्रवेश दिया जाता है।

कुचामन में साइबर सेल का गठन

शहर में सेल टैक्स के छापे, 5 चॉकलेट फैक्ट्रियों पर कार्रवाई

[MORE_ADVERTISE3]अब सीईटी पास छात्रों को नहीं होगी कोई परेशानी, जनवरी के पहले सप्ताह में पुणे से शुरू होगी ये प्रक्रिया ?

कॉलेजों के प्रतिनिधियों को निर्देश...
छात्रों को कम जानकारी, प्रवेश प्रक्रिया के ऑनलाइन आवेदन पत्र को भरने के दौरान गलत परामर्श, प्रवेश में समस्याओं का कारण बनता है। कॉलेजों के प्रतिनिधियों को अब सीईटी सेल की ओर से छात्रों को होने वाली परेशानी को रोकने के लिए निर्देशित किया जाएगा। इसके लिए अधिकारियों की विशेष समितियां भी बनाई गई हैं। ये अधिकारी सीईटी सेल के माध्यम से प्रवेश प्रक्रिया, संस्थानों और कॉलेजों की पूरी जानकारी, सिलेबस, शैक्षिक शुल्क, आरक्षण कोटा, एनआरआई छात्रों को क्या करना चाहिए आदि के बारे में जानकारी प्राप्त कराने के लिए काम करेंगे।

महाराष्ट्र में 13 से 23 अप्रैल तक एमएचईटी सीईटी परीक्षा

राज्य Civil प्रवेश की अंतिम मेरिट लिस्ट 9 को