स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

Bmc News: निकाय चुनाव के लिए समझौता नहीं

Dheeraj Singh

Publish: Nov 17, 2019 21:46 PM | Updated: Nov 17, 2019 21:46 PM

Mumbai

# निकाय चुनाव के लिए समझौता नहीं.

# शिवसेना मांगेगी तो महापौर चुनाव में एनसीपी कर सकती है समर्थन.

# 22 नवंबर को होने वाला है महापौर का चुनाव.

# शिवसेना के साथ निकाय चुनाव के लिए हमारे कोई गठबंधन नहीं है.

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
मुंबई. राष्ट्रपति शासन के बीच 22 नवंबर को राज्य की 27 महानगर पालिकाओं के लिए महापौर का चुनाव होना है। इनमें मुंबई और ठाणे मनपा भी शामिल हैं। राज्य की अधिकांश महानगर पालिकाओं की सत्ता पर काबिज भारतीय जनता पार्टी और शिवसेना के लिए महापौर चुनाव कड़ी परीक्षा साबित हो सकता है। इस मामले में एनसीपी प्रवक्ता नवाब मलिक ने अहम बयान दिया है। मलिक ने कहा कि शिवसेना के साथ निकाय चुनाव के लिए हमारे कोई गठबंधन नहीं है। चूंकि वह भाजपा के साथ रिश्ता तोड़ चुकी है, लिहाजा शिवसेना चाहेगी तो हम महापौर चुनाव में उसके प्रत्याशी का समर्थन कर सकते हैं।
उल्लेखनीय है कि विधानसभा चुनाव नतीजों की घोषणा के बाद शिवसेना ने भाजपा से रिश्ता तोड़ लिया है। विधानसभा चुनाव में महायुति को सरकार बनाने का स्पष्ट जनादेश मिला था। लेकिन, शिवसेना ने सत्ता में बराबर की हिस्सेदारी के साथ ही ढाई-ढाई के साल के लिए मुख्यमंत्री की बनाने की मांग की, जिसे भाजपा ने खारिज कर दिया। नाराज शिवसेना ने अपनी सरकार बनाने के लिए अब कांग्रेस-एनसीपी से हाथ मिला लिया है। अब तक साथ रहीं शिवसेना और भाजपा महापौर चुनाव में एक दूसरे को टक्कर देंगी।

उल्लेखनीय है कि बता दें कि देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में महापौर का कार्यकाल ढाई साल का होता है। मौजूदा महापौर विश्वनाथ महाडेश्वर का कार्यकाल सितंबर में ही समाप्त हो चुका है। लेकिन, विधानसभा चुनाव के चलते चुनाव आयोग ने महाडेश्वर को तीन माह का कार्य विस्तार दिया था। पिछले चुनाव में शिवसेना के 84,भाजपा के 82, कांग्रेस के 31, एनसीपी के 7, समाजवादी पार्टी के 6 नगरसेवक चुने गए थे। बाद में छह निर्दलीय नगरसेवक शिवसेना में शामिल हो गए थे।

[MORE_ADVERTISE1]