स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

mahacongress:उर्मिला ने मेकअप तक का खर्चा भी कांग्रेस से लिया है , आरोप से नाराज कृपा ने छोड़ा कांग्रेस।

Ramdinesh Yadav

Publish: Sep 10, 2019 21:42 PM | Updated: Sep 10, 2019 21:42 PM

Mumbai

  • उर्मिला ने मेकअप तक का खर्चा भी कांग्रेस से लिया है ,
  • उर्मिला पर निरुपम के आरोप से नाराज कृपा ने छोड़ा कांग्रेस।
  • दोनों नेताओं के बीच हुए नोक झोंक में कृपाशंकर सिंह का अनादर होने से वे दुखी भी हो गए।
  • दिल्ली में कांग्रेस के स्क्रीनिंग कमिटी की बैठक में संजय -कृपा में झड़प

मुंबई। कांग्रेस में इन दिनों पतन का दौर जारी है। आपसी गुटबाजी और तनाव के चलते आये दिन कोई न कोई बड़ा नेता पार्टी को अलविदा कह रहा हैं। मंगलवार को भी कांग्रेस के कद्दावर हिंदीभाषी नेता व् पूर्व मंत्री कृपाशंकर सिंह तथा उत्तर मुंबई लोकसभा सीट से प्रत्यासी उर्मिला मांतोडकर ने अपना इस्तीफा दिया है। उर्मिला के इस्तीफे को लेकर चली बहस पर कांग्रेस के स्क्रीनिंग कमिटी की बैठक में दो हिंदीभाषी नेता आपस में भीड़ गए। उर्मिला मांतोडकर के बेतुके बयानों को लेकर मुंबई कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष संजय निरुपम ने निंदा करते हुए उलटे सीधे शब्दों में पार्टी को नुक्सान पहुंचाने का आरोप लगाया।

mumbai

दिल्ली के कांग्रेस कार्यालय में हुई बैठक में प्रदेश प्रभारी मल्लिकार्जुन खरगे , चुनाव प्रभारी ज्योतिरादित्य सिंधिया , माणिकराव ठाकरे , मुंबई के नए अध्यक्ष एकनाथ खडसे के साथ संजय निरुपम और कृपाशंकर सिंह भी उपस्थित थे। उक्त नेताओं के बीच कृपाशंकर सिंह ने उर्मिला का बचाव किया और कहा कि उर्मिला मराठी मुलगी हैं। पार्टी के बुरे दौर में वह साथ आई है। पार्टी में पैसा खर्च कर कार्यकर्ताओं को जोड़ने का भी काम किया है। उससे पार्टी को फायदा ही हुआ है नुकसान नहीं। ऐसे में संजय ने कहा कि उर्मिला ने कुछ नहीं किया है चुनाव में उसके मेकअप तक के पैसे पार्टी ने खर्च किया है। जिसका कृपा ने विरोध किया और कहा कि यह बातें खुले में नहीं बोलना चाहिए। सिंह ने धारा 370 पर भी पार्टी की भूमिका स्पष्ट किये जाने की मांग कर दी , जिस पर भी विवाद हो गया।बैठक में दोनों नेताओं के बीच हुए नोक झोंक में कृपाशंकर सिंह का अनादर होने से वे दुखी भी हो गए। पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के बीच अनादर से कृपा ने पार्टी से इस्तीफा देने का निर्णय ले लिया।

उल्लेखनीय है इससे पहले उर्मिला ने भी पार्टी में गम्भरीता नहीं होने का आरोप लगते हुए अपने पद से इस्तीफा दिया है। उर्मिला ने कहा कि कांग्रेस में उनकी बातों को नहीं सुना जाता है।

mahacongress:उर्मिला ने मेकअप तक का खर्चा भी कांग्रेस से लिया है , आरोप से नाराज कृपा ने छोड़ा कांग्रेस।

इस मामले में एकनाथ खडसे ने कहा कि कृपाशंकर सिंह के बारे में कुछ कहा नहीं जा सकता है। उनके मिजाज पहले ही बदले थे। खैर पार्टी उन्हें मनाने का प्रयास कर रही है। उन्होंने इस्तीफा दे दिया है. यह सच है लेकिन उस पर अंतिम निर्णय हाईकमान के लोग लेंगे।

कृपाशंकर सिंह ने कहा कि पार्टी ने हम जैसे नेताओं को अपनी बात रखने का अब कोई अधिकार नहीं दिया जा रहा हैं। कांग्रेस अपनी संस्कृति से भटक गई है। बैठक में मुझे मिले जवाब ने मेरे ह्रदय को दुःख पहुंचाया ,और मै क्या करता , इस्तीफा दे दिया हूँ।

प्रवक्ता सचिन सावंत ने कहा कि पार्टी का अंदरूनी मामला है। उन्हें इस्तीफा दिया है लेकिन स्वीकार नहीं हुआ है। इस बार बात होगी, सकारात्मक हल निकल कर आएगा। ऐसा विश्वास है।

कांग्रेस में जितने नेता उतने गुट, खुलकर आने लगी है गुटबाजी।