स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

maha election : नेहरू की गलती का परिणाम है पीओके

Ramdinesh Yadav

Publish: Sep 22, 2019 19:16 PM | Updated: Sep 22, 2019 19:16 PM

Mumbai

  • अमित शाह ने पीओके के लिए पूर्व प्रधानमन्त्री नेहरू को जिम्मेदार बताया
  • नेहरू ने वीर सैनिकों को रोक कर युद्ध को विराम नहीं लगाया होता तो पीओके का अस्तित्व ही नहीं होता।
  • गलत नीतियों के चलते वहां अबतक 40 हजार निर्दोष लोगों को मरने का मुझे दर्द है।
  • राहुल गांधी को धारा 370 राजनीति दिखाई देती है और हमें देशभक्ति , यही फर्क है उनमे और हममे।
  • हमारे नेताओं की तीन पीडियों ने बलिदान दिया है और वे जेएनयू में देशविरोधी गतविधियों को अंजाम देने वालों के साथ खड़े नजर आते हैं।

मुंबई। महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के शंखनाद के साथ ही भाजपा के पहले चुनावी महासभा में केंद्रीय गृह मंत्री और पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने पीओके के लिए पूर्व प्रधानमन्त्री नेहरू को जिम्मेदार बताते हुए कहा कि यदि नेहरू ने वीर सैनिकों को रोक कर युद्ध को विराम नहीं लगाया होता तो पीओके का अस्तित्व ही नहीं होता। गलत नीतियों के चलते वहां अबतक 40 हजार निर्दोष लोगों को मरने का मुझे दर्द है। मुंबई में जम्मू एवं कश्मीर से धारा 370 हटाए जाने को लेकर आयोजित व्याख्यान में शाह बोल रहे थे। शाह ने कहा कि बटवारे के समय पाकिस्तान से जो लोग भारत आये उनमे से दो प्रधानमन्त्री बने तो एक उप प्रधनमंत्री बने , लेकिन जो कश्मीर गए उन्हें नागरिकता तक नहीं मिली। अब कश्मीर आतंकवाद से मुक्त होकर विकास के नए ढर्रे पर दौड़ेगा। अगस्त से अबतक जम्मू कश्मीर में एक भी गोली नहीं चली है , एक भी मौत नहीं हुई है। कर्फ्यू हट गए है. लोग चैन की सांस ले रहे हैं।

maha election : नेहरू की गलती का परिणाम है पीओके

इस मौके पर उन्होंने कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी पर कटाक्ष कसते हुए कहा कि धारा 370 के मुद्दे में उन्हें राजनीति दिखाई देती है और हमें देशभक्ति , यही फर्क है उनमे और हममे। हमारे नेताओं की तीन पीडियों ने बलिदान दिया है और वे जेएनयू में देशविरोधी गतविधियों को अंजाम देने वालों के साथ खड़े नजर आते हैं।

शाह ने कहा कि सरदार पटेल के मृत्यु के बाद ही धारा 370 को लेकर समझौता हुआ है। और इसके लिए सबसे पहले श्यामाप्रसाद मुखर्जी ने बलिदान दिया।आज कश्मीर को हमारी सरकार ने आज़ाद कराया है। भ्रष्टाचार मुक्त किया है। एसीबी का गठन करने से कश्मीर के ठन्डे मौसम में भी भ्रष्टाचारियों को पसीन आ रहे हैं।

maha election : नेहरू की गलती का परिणाम है पीओके