स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

OMG : महाराष्ट्र सरकार को भारी पड़ेगी कड़कनाथ की कूकूड़ूकू !

Rajesh Kasera

Publish: Sep 17, 2019 08:30 AM | Updated: Sep 17, 2019 01:04 AM

Mumbai

  • घोटाला उजागर होने के बाद मुर्गी पालकों में नाराजगी
  • फडणवीस के काफिले पर फेंके कड़कनाथ के अंडे

मुंबई. पश्चिमी महाराष्ट्र में हुए कड़कनाथ मुर्गा पालन घोटाले से नाराज किसान स्वाभिमान पार्टी के कार्यकर्ताओं ने मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस की महाजनादेश यात्रा के काफिले पर मुर्गें और अंडे फेंक कर विरोध जताया। मुख्यमंत्री का काफिला सांगली इस्लामपुर से गुजर रहा था, इसी दौरान कई लोग बीच सड़क पर आ गए। नाराज लोगों की ओर से भाजपा की महाजनादेश यात्रा के रथ पर कड़कनाथ मुर्गे और अंडे फेंके गए। महाजनादेश यात्रा की सुरक्षा में तैनात पुलिस कर्मियों और पार्टी कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शनकारियों को वहां से हटाया, जिसके बाद भाजपा का रथ तेजी से आगे निकल गया। मिली जानकारी अनुसार पुलिस ने कुछ आंदोलनकारियों को गिरफ्तार किया है। चुनाव से ठीक पहले इस तरह के आरोपों से सत्तारुढ़ सरकार की मुश्किलें बढ़ सकती हैं ।


उल्लेखनीय है कि सांगली, सतारा तथा कोल्हापुर में किसानों को वैकल्पिक रोजगार मुहैया कराने के लिए सरकार ने मुर्गी पालन योजना शुरू की थी। उस्मानाबाद की चर्चित मुर्गा प्रजाति कड़कनाथ को पालने की योजना थी, जिसमें 500 करोड़ रुपए से अधिक के घोटाले का आरोप किसान स्वाभिमान पार्टी के अध्यक्ष राजू शेट्टी ने लगाया है। युवा नेता रविकांत तुपकर ने कहा कि मुख्यमंत्री भ्रष्ट मंत्रियों को बचा रहे हैं। हमारा आंदोलन तब तक जारी रहेगा, जब तक किसानों को न्याय नहीं मिलता है।

बाल-बाल बचे प्रदर्शनकारी


मुख्यमंत्री के काफिले के सामने विरोध प्रदर्शन करने वालों की जान बाल-बाल बची। क्योंकि भाजपा की महाजनादेश यात्रा का रथ तेज रफ्तार आगे बढ़ रहा था, जिसके पीछे 200 गाडिय़ों का काफिला था। प्रदर्शनकारियों को हटाया नहीं गया होता तो बड़ा हादसा हो सकता था।

क्या है मामला


कड़कनाथ सामान्य मुर्गा की तुलना में बाजार में पांच गुना महंगा बिकता है। राज्य मंत्री सदाभाऊ खोत के रिश्तेदार और उनकी रैयत क्रांति पार्टी के युवा अध्यक्ष ने कड़कनाथ के नाम पर सामान्य मुर्गा किसानों को पालने के लिए दिया।, जबकि पैसा कड़कनाथ का लिया गया। शेट्टी ने कहा कि लगभग 500 करोड़ रुपए का घोटाला हुआ है।