स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

cinema:करोगे याद तो याद आएंगे खय्याम साहब, महान संगीतकार ख़य्याम का देहावसान

Ramdinesh Yadav

Publish: Aug 20, 2019 08:05 AM | Updated: Aug 20, 2019 08:05 AM

Mumbai

  • करोगे याद तो याद आएंगे खय्याम साहब
    महान संगीतकार ख़य्याम का देहावसान
  • खय्याम साहब पद्मभूषण सहित कई पुरस्कारों से सम्मानित हो चुके थे।

सुकून भरे संगीतक लिए मशहूर संगीतकार मोहम्मद ज़हूर "खय्याम" साहब का 93 वर्ष की उम्र में सोमवार रात 9.45 को निधन हो गया । जुहू में बिल्डिंग दक्षिण पार्क के 7 वे मंजिल पर अपनी पत्नी के साथ रहते थे। अपने संगीत के बल पर 60 से 90 के दशक तक अलग छाप छहOडेन वाले खय्याम साहब पंजाब से मुम्बई संगीतकार बनने आये थे। उनकी पत्नी जगजीत कौर प्रख्यात गायिका है । खय्याम साहब पद्मभूषण सहित कई पुरस्कारों से सम्मानित हो चुके थे।
पिछले कई दिनों से खय्याम साहब बीमार थे , शरीर के कुछ भाग में पानी जमा होने की वजह से उन्हें सांस लेने में तकलीफ हो रही थी, कुछ दिन पहले वे अस्पताल में भर्ती कराए गए थे । 5 दिनों पहले ही उन्हें अस्पताल से घर लाया गया था । उन्ही के इमारत में रहने वाले एक सख्स ने बताया कि उनके निधन से परिसर में भी शोक व्याप्त है ।
उनकी मशहूर फिल्म जिनका संगीत सुपरहिट रहा , उनमे उमरावजान कभी कभी , त्रिशूल, नूरी, रजिया सुल्तान, बाजार आदि शामिल है ।
बाजार फ़िल्म में संगीतकार खय्याम ने गायक भूपेंद्र सिंह से गीत गवाया था , करोगे याद तो हर बात याद आएगी ठीक उसी तरह जब भी झंकृत करती कर्णप्रिय धुन सुनने को मिलेगी तो खय्याम साहब याद आएंगे।