स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

शहीद भगत सिंह को सरकार द्वारा शहीद का दर्जा देने की पुकार, इस संगठन ने किया समूचे पंजाब में प्रदर्शन का ऐलान

Prateek Saini

Publish: Mar 23, 2019 16:52 PM | Updated: Mar 23, 2019 16:52 PM

Mohali

यूथ ऑफ पंजाब के संरक्षक जैलदार सतविंदर सिंह और अन्य पदाधिकारियों ने प्रदर्शन का नेतृत्व करते हुए यह मांग भी की कि शहीद भगत सिंह के बलिदान दिवस 23 मार्च का सरकारी अवकाश फिर बहाल किया जाए...

(चंडीगढ,मोहाली): यह कोई साधारण दिन नहीं हैं। आजादी का सपना पाले हंसते—हंसते फांसी के फंदे पर झूलने वाले शहीद भगत सिंह, राजगुरू और सुखदेव की शहादत का दिन है। हर एक भारतीय के जहन में जब इन क्रांतिकारियों के बलिदान की बात आती है तो खुन उबाल मारने लगता है। इसी महौल के बीच में एक बार फिर भगत सिंह और उनके साथियों को शहीद का दर्जा देने की मांग उठी है। शहीदी दिवस 23 मार्च से एक दिन पहले यूथ ऑफ पंजाब नामक संगठन ने शुक्रवार को पंजाब के मोहाली जिला मुख्यालय पर प्रदर्शन कर केन्द्र सरकार से यह मांग की।

 

 

यूथ ऑफ पंजाब के संरक्षक जैलदार सतविंदर सिंह और अन्य पदाधिकारियों ने प्रदर्शन का नेतृत्व करते हुए यह मांग भी की कि शहीद भगत सिंह के बलिदान दिवस 23 मार्च का सरकारी अवकाश फिर बहाल किया जाए। उन्होंने इसके साथ ही यह मांग भी की कि मोहाली स्थित अन्तरराष्ट्रीय एयरपोर्ट का नाम भी शहीद भगत सिंह के नाम पर रखा जाए। इन पदाधिकारियों ने कहा कि वे यह मांग कांग्रेस, अकाली दल और भाजपा समेत सभी दलों से कर रहे है। उन्होंने कहा कि राजनीतिक दलों के नेताओं को सिर्फ अपनी कुर्सी की चिंता करने के बजाय उन शहीदों को पूरा सम्मान देना चाहिए जिनके बलिदान से उन्हें कुर्सी मिली है। उन्होंने कहा कि इस प्रदर्शन के बाद इन मांगों को लेकर यूथ आफ पंजाब समूचे प्रदेश में प्रदर्शन करेगा। यूथ ऑफ पंजाब एक गैर राजनीतिक संगठन है।