स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

कश्मीरी छात्रों का उत्तराखंड से पलायन, पंजाब के मोहाली में दर्जनों विद्यार्थियों ने गुरुद्वारे में ली शरण

Prateek Saini

Publish: Feb 18, 2019 20:14 PM | Updated: Feb 18, 2019 20:14 PM

Mohali

पंजाब सरकार ने पूरी सुरक्षा देने का वादा किया था जिससे दूसरे राज्यों से भी कश्मीरी छात्र यहां आ रहे है...

 

(चंडीगढ़,मोहाली): जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में आतंकी हमले के बाद दर्जनों कश्मीरी छात्रों ने उत्तराखंड से पलायन करके पंजाब के मोहाली में शरण ली है। सभी छात्र मोहाली के गुरुद्वारा सिंध शहीदां में रह रहे हैं। पंजाब पुलिस द्वारा उन्हें सुरक्षा प्रदान की गई है। गुरूद्वारा प्रबंधकों की ओर से इन विद्यार्थियों के रहने व खाने का प्रबंध किया जा रहा है।


पुलवामा हमले के बाद पंजाब के विभिन्न शहरों में रहकर पढ़ाई करने वाले कश्मीरी विद्यार्थियों को जहां कई संगठनों द्वारा कथित तौर पर परेशान किया जा रहा है, वहीं पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने गत दिवस सार्वजनिक बयान में कहा था कि पंजाब सरकार कश्मीरी विद्यार्थियों को हर तरह की सुरक्षा प्रदान करेगी, जिसके चलते पड़ोसी राज्यों के विद्यार्थी भी पंजाब में आने शुरू हो गए हैं।


उत्तराखंड की राजधानी देहरादून में विभिन्न शिक्षण संस्थानों में पढ़ रहे कश्मीरी विद्यार्थी रविवार देर रात मोहाली के गुरूद्वारा सिंघ शहीदां में पहुंचने शुरू हुए। सोमवार शाम तक देहरादून व आसपास के इलाकों से चार दर्जन से अधिक कश्मीरी विद्यार्थी मोहाली पहुंच चुके थे, जिनमें छह लड़कियां भी शामिल हैं। कश्मीरी छात्रों के प्रतिनिधि क्वाजा ईदरत ने बताया कि पुलवामा हमले के बाद उन्हें वहां कई तरह की दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा था, जिसके चलते खालसा एड संस्था द्वारा उन्हें गाडिय़ों से सुरक्षित तरीके से मोहाली पहुंचाया गया। इन छात्रों ने मोहाली की उपायुक्त गुरप्रीत कौर सपड़ा से भी मुलाकात की।