स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

ऑस्ट्रेलिया में आग के चलते सैकड़ों लोगों को निकाला गया

Amit Kumar Bajpai

Publish: Sep 10, 2019 18:12 PM | Updated: Sep 10, 2019 18:13 PM

Miscellenous World

  • देश के पूर्वी हिस्से में आग से बिगड़े हालात
  • सोमवार रातभर दमकलकर्मी लगे रहे आग बुझाने में
  • बारिश की कमी और जलवायु परिवर्तन बनी वजह

सिडनी। पूर्वी ऑस्ट्रेलिया के दो राज्यों में 130 से ज्यादा स्थानों पर आग के चलते दमकलकर्मियों ने सैकड़ों लोगों को उनके घरों से सुरक्षित बाहर निकाला है। अधिकारियों का मानना है कि क्वींसलैंड के इतिहास में आग की अब तक की यह सबसे बड़ी घटना है।

मंगलवार को इसके पड़ोसी राज्य न्यू साउथ वेल्स के करीब 1 लाख हेक्टेयर क्षेत्र में 58 स्थानों पर आग लगी हुई पाई गई। इसके चलते करीब एक दर्जन मकान नष्ट हो गए। हालांकि अधिकारियों ने दमकलकर्मियों के अदम्य साहस और प्रयासों की सराहना की है।

सोमवार रातभर 300 से ज्यादा दमकलकर्मी क्वींसलैंड के सनसाइन कोस्ट पर आग को बढ़ने से रोकने के लिए प्रयास में जुटे रहे।

पेरेगियन बीच के रिहायशी इलाकों पर भी आग का खतरा है और अब तक एक संपत्ति को नुकसान पहुंचा है। क्वींसलैंड की कार्यकारी प्रमुख जैकी ट्रैड ने बताया कि बीती रात दमकलकर्मियों के अदम्य प्रयासों से जो नतीजा निकला वो किसी चमत्कार से कम नहीं है।

जैकी समेत अन्य राजनेताओं ने लोगों से अपील की है कि वे बचाव के लिए निकलने के आदेशों का पालन करें। समुद्री किनारों पर लगी आग के चलते 400 से ज्यादा लोगों को अपना घर छोड़ने पर मजबूर होना पड़ा।

इस सप्ताह की शुरुआत में जैकी ट्रैड ने इसके लिए जलवायु परिवर्तन के प्रभावों को जिम्मेदार बताया था। उन्होंने कहा था कि बढ़ते तापमान ने उपोष्णकटिबंधीय क्षेत्र में आग लगने के जोखिम पैदा कर दिए हैं।

सप्ताहांत में आग ने क्वींसलैंड के दक्षिण-पूर्वी क्षेत्र के वर्षावन को घेर लिया था। इस वर्ष कम बारिश के चलते यह वर्षावन सूख गए थे।

शुष्क, गर्म हालात और 80 किलोमीटर प्रतिघंटे तक हवाओं की रफ्तार ने समुद्रतटीय पेरेगन इलाके में आग फैलने में मदद की, जिसके चलते मंगलवार को भी घरों पर खतरा मंडरा रहा है।

इस संबंध में पुलिस का कहना है कि वो मामले की जांच कर रही है कि कहीं यह आग जानबूझकर तो नहीं लगाई गई।