स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

अगर आपको भी है अपने डॉगी से प्यार, तो इस रहस्यमयी बीमारी से हो जाएं सावधान

Anil Kumar

Publish: Sep 10, 2019 20:51 PM | Updated: Sep 10, 2019 20:51 PM

Miscellenous World

  • नॉर्वे के 18 प्रशासनिक क्षेत्रों में से 13 में मामले सामने आए हैं
  • नॉर्वेजियन वेटरनरी इंस्टीट्यूट ने बताया कि अब तक 25 कुत्तों की मौत हो चुकी है

ओस्लो। युरोपीय देश नोर्वे में एक रहस्मयी खतरनाक बीमारी ने दस्तक दी है। इस बीमारी के कारण पूरे नोर्वे में दहशत फैल गई है। अधिकारी रहस्मय बीमारी का पता लगाने के लिए लगातार हाथ-पांव मार रहे हैं, लेकिन अभी तक कामयाबी नहीं मिल पाई है।

दरअसल, बीते कुछ हफ्तों में नोर्वे में दर्जनों कुत्ते इस रहस्मयी बीमारी की चपेट में आ गए हैं, जिसको लेकर लोग खौफ में हैं। पहला मामला राजधानी ओस्लो में देखा गया, लेकिन कुत्ते पूरे देश में बीमार पड़ गए हैं। नॉर्वे के 18 प्रशासनिक क्षेत्रों में से 13 में मामले सामने आए हैं।

200 किलोमीटर चलकर मालिक के पास लौटा कुत्ता, रास्ते में आई इन मुश्किलों को किया पार

सीएनन की रिपोर्ट के मुताबिक, नॉर्वेजियन फूड सेफ्टी अथॉरिटी और नॉर्वेजियन वेटरनरी इंस्टीट्यूट के प्रतिनिधियों ने बताया है कि अब तक कम से कम 25 कुत्तों की मौत हो चुकी है।

नॉर्वेजियन वेटनरी इंस्टीट्यूट के अनुसार, सोमवार को जब मृत कुत्तों के शव का परीक्षण किया गया तो कुछ तथ्य सामने आए। मृत कुत्तों के शरीर से असामान्य रूप से बड़े-बड़े दो बैक्टीरिया पाए गए।

हालांकि, इस स्तर पर अभी कोई अधिक ठोस विवरण नहीं मिल सका है। खाद्य सुरक्षा प्राधिकरण ने कुछ संभावित कारणों जैसे साल्मोनेला, कैम्पिलोबैक्टर या जहर से इनकार किया है, लेकिन शुरूआती जांच से अभी तक कोई निश्चित जवाब नहीं मिल सका है।

screenshot_from_2019-09-10_20-40-14.png

बीमारी का पता लगाने के लिए अनुसंधान जारी

पशु चिकित्सा संस्थान के अनुसार, मृत कुत्तों के शरीर से जो बैक्टीरिया मिला है, वह पूरी तरह से नए नहीं है। बीमार कुत्तों में पहले भी देखे जा चुके हैं, लेकिन मामलों में तेजी से वृद्धि असामान्य है।

संस्थान ने बताया कि बीमारी पहले की तुलना में अधिक तेजी से फैल रहा है। न केवल कुत्ते बीमार हो रहे हैं, बल्कि बीमार होने के बाद तेजी से स्थिति खराब हो रही है।

मालिक के सामने बाघों को देख बीच में कूद आया पालतू कुत्ता - और फिर हुआ ऐसा की बच गई सबकी जान

खाद्य सुरक्षा प्राधिकरण, पशु चिकित्सा संस्थान और नॉर्वेजियन यूनिवर्सिटी ऑफ लाइफ साइंसेज एक साथ जांच पर काम कर रहे हैं। पशु चिकित्सा संस्थान के अनुसार, उन्होंने अधिक जानकारी एकत्र करने के लिए पालतू जानवरों के मालिकों के लिए एक सर्वेक्षण भेजा है, साथ ही नॉर्वे में क्लीनिक और 2,000 पशु चिकित्सकों के साथ समन्वय किया है।

अनुसंधान टीमें भी इस कारण को कम करने के लिए मृत कुत्तों की virological अध्ययन, शव परीक्षा, और प्रयोगशाला विश्लेषण पर काम कर रही हैं।

dog.jpeg

अधिकारियों ने कुत्तों के मालिकों को दी चेतावनी

वेटरनरी इंस्टीट्यूट ने कहा कि बैक्टीरिया के अलावा, संभावित कारणों में वायरस, कवक, परजीवी या खराब पानी की गुणवत्ता जैसे पर्यावरणीय कारण शामिल हो सकते हैं। प्रभावित कुत्तों की कुल संख्या अभी तक स्पष्ट नहीं है।

इस बीच, अधिकारियों ने कुत्ते के मालिकों को चेतावनी दी है कि वे अपने कुत्तों को पट्टे पर रखें और किसी भी तरह के लक्षणों के लिए सचेत रहें।

बहन खुशी संग फोटो क्लिक करा रही थीं जाह्नवी, तभी अचानक से आ गया कुत्ता और...

फूड सेफ्टी अथॉरिटी के एन मार्गरेट ग्रॉन्डहल ने कहा कि जब कुत्तों को टहलाया जाता है, तो उन्हें सड़क या पार्क में मिलने वाले आवारा कुत्तों से संपर्क में नहीं आने देना चाहिए।

फिलहाल अभी तक कोई सुझाव नहीं है कि बीमारी कुत्ते के भोजन से आ रही है या यह बीमारी मनुष्यों में फैल सकती है।

Read the Latest World News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले World News in Hindi पत्रिका डॉट कॉम पर. विश्व से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर.