स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

एंबुलेंस पहुंचने में हुई देरी तो महिला की गई जान, आक्रोशित परिजनों ने किया हंगामा

Akhilesh Kumar Tripathi

Publish: Oct 18, 2017 11:23 AM | Updated: Oct 18, 2017 13:15 PM

Mirzapur

परिजनों का आरोप है कि फोन करने के बाद भी समय से एंबुलेंस नहीं पहुंची और अगर एम्बुलेंस समय से मिलती तो महिला की जान बच सकती थी ।

मिर्जापुर. सड़क हादसे में महिला की मौत के बाद जिला अस्पताल में जमकर हंगामा हुआ। परिजनों का आरोप है कि फोन करने के बाद भी समय से एंबुलेंस नहीं पहुंची और अगर एम्बुलेंस समय से मिलती तो महिला की जान बच सकती थी। मौके पर पहुंची पुलिस ने किसी तरह से हंगामे को शांत करवाया।

 

चिल्ह थाना क्षेत्र के शास्त्री पुल पर विंध्याचल से दर्शन कर मोटरसाइकिल से वापस घर जा रही भदोही जनपद के सुरियावां थाना के भावापुर ग्राम निवासी बबीता मिश्रा चील्ह थाना के सेमरा गांव निवासी अपने भाई बृजेश के साथ विन्ध्याचल दर्शन कर वापस मायके सेमरा जा रही थी कि अचानक शास्त्री सेतु पर ट्रक ने बाइक में टक्कर मार दिया, जिसकी वजह से दोनो गंभीर रूप से घायल हो गये।

 

मौजूद लोगों ने तत्काल एम्बुलेंस को फोन किया मगर एम्बुलेंस देर से पहुंची। दोनों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां पर इलाज के दौरान बबिता मिश्रा की मौत हो गयी जबकि महिला के भाई का इलाज चल रहा है। एम्बुलेंस के देर से पहुचने पर घायलों को जिला अस्पताल लाने में हुई देरी और पुलिस के रवैये से नाराज हो कर परिजनों ने जिला अस्पताल में हंगामा किया। इस दौरान अस्पताल में भारी भीड़ लग गयी।

 

हंगामे की सूचना मिलते ही मौके पर बड़ी संख्या में पुलिस भी जिला अस्पताल पहुंच गयी। पुलिस ने परिजनों को समझा कर उनका आक्रोश शांत करवाया और शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। वहीं अस्पताल में मौजूद परिजनों का आरोप है कि महिला की मौत एम्बुलेंस के देर से आने की वजह से हुई है। उनका कहना था कि अगर समय से एम्बुलेंस पहुचती तो महिला की जान बच सकती थी। इस पुल पर इससे पहले भी कई हादसे हो चुके है, हाल ही में ट्रक गिरने से तीन की मौत हो गई थी। लगातार हादसे के बाद भी पुलिस और जिला प्रशासन ने आज तक पुल और उसके आस-पास के इलाकों में सुरक्षा के कोई व्यवस्था नहीं कर पाया है।

 

BY- Suresh Singh