स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

विंध्य कॉरिडोर को मंत्रिमंडल की हरी झंडी 32 करोड़ की लागत से होगा विंध्यांचल का विकास : मोती सिंह

Sarweshwari Mishra

Publish: Aug 04, 2019 12:14 PM | Updated: Aug 04, 2019 12:14 PM

Mirzapur

विंध्याचल दर्शन पूजन के लिए परिवार के साथ पहुचे मंत्री मोती सिंह

मिर्ज़ापुर. विश्व प्रसिद्ध विंध्याचल के विकास सौदर्यीकरण के लिए और यहॉ पर मां विंध्यवासनी के दर्शन- पूजन के लिए बाहर से आने वाले दर्शनार्थियों को सहूलियत देने के लिए। चर्चित विंध्य कॉरिडोर को प्रदेश मंत्रिमंडल ने हरी झंडी दे दी है। प्रदेश की योगी सरकार ने 32 करोङ रुपये की लागत से काशी विश्वनाथ की तर्ज पर मंदिर का विकास करेगी। यह जानकारी विंध्याचल पहुंचे प्रदेश सरकार में ग्रामीण अभियंत्रण मंत्री मोती सिंह ने मां विन्ध्यवासिनी दर्शन पूजन के पश्चात पत्रकारों से बात करते हुए दिया।

 

मोती सिंह के अनुसार विंध्य कॉरिडोर के लिए लोकनिर्माण विभाग ने जो सर्वे और आर्थिक आंकड़ा मुआवज़े सहित प्रदेश सरकार को सौंपा है मंत्रिमंडल की ओर से उसे मंजूरी मिल चुकी है। कुल 32 करोड़ रूपये खर्च किये जायेंगे। काशी विश्वनाथ की तर्ज पर विन्ध्यांचल का भी विकास होगा। उनका कहना था कि यहां के विकास की योजना मुख्यमंत्री योगी जी प्राथमिकता में शामिल है। हमारे सरकार की कोशिश है कि एक तरफ काशी विश्वनाथ और दूसरी तरफ विंध्याचल मंदिर का विकास कर विश्व मानचित्र पर लाया जाए। विंध्याचल का सुंदरीकरण होने से यहां पर पर्यटकों की संख्या में इजाफा होगा जिसका फायदा यहां के स्थानीय लोगों को रोजगार के रूप में मिलेगा।वही मोती सिंह ने प्रदेश में कानून व्यवस्था के मुद्देपर पूछे गए सवाल के जबाब में उन्होंने प्रदेश सरकार की अपराध को कंट्रोल करने के अभियान की तारीफ करते हुए कहा कि अब अपराधियो में खौफ दिखाई पड़ रहा है।हमारी सरकार की कोसिस अपराध मुक्त प्रदेश की है।अब अपराधियो में पुलिस का खौफ भी दिखाई दे रहा है। हालांकि बाद में उन्होंने पुलिस को लेकर आ रही शिकायत पर कहा कि दायित्यों में वृद्धि के कारण कभी कभी किसी चूक हो जाती है। मंत्री और उनके परिवार को पुरोहित पीके शुक्ला ने दर्शन पूजन कराया। माँ विन्ध्यवासिनी दर्शन के पश्चात अष्टभुजा मन्दिर दर्शन के लिए प्रस्थान कर गए ।

BY- Suresh Singh