स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

प्रियंका गांधी को मिर्जापुर पुलिस ने रोका, तो धरने पर बैठी कहा मैं सोनभद्र जाकर रहूंगी

Sarweshwari Mishra

Publish: Jul 19, 2019 17:14 PM | Updated: Jul 19, 2019 17:14 PM

Mirzapur

प्रियंका गांधी ने कहा सोनभद्र में धारा 144 लगा है तो हमें मिर्जापुर में किस आधार पर रोका जा रहा है

मिर्जापुर. सोनभद्र के घोरावल थाना क्षेत्र के उभ्भा में बुधवार को 10 लोगों की हत्या के बाद यूपी की राजनीति गरमा गई है। कांग्रेस सचिव प्रियंका गांधी हिंसा में मारे गए लोगों के परिजनों से मिलने के लिए सोनभद्र जा रही थी तभी मिर्जापुर नारायण पुलिस चौकी पर उनके काफिले को पुलिस ने रोक दिया। जिसके विरोध में प्रियंका गांधी कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ धरने पर बैठ गई। उस दौरान प्रियंका ने कहा कि सोनभद्र में धारा 144 लगा है तो हमें मिर्जापुर में किस आधार पर रोका जा रहा है। यह कौन सा कानून है। मैं सोनभद्र पीड़ितों के परिवार से मिलने जा रही हूं और मुझे जाने नहीं दिया जा रहा है।

 


लगभग आधे घंटे तक धरने पर बैठने के बाद प्रियंका गांधी को मिर्जापुर जाते समय दोबारा रोक दिया गया। जहां से एसडीएम चुनार सत्यप्रकाश सिंह ने प्रियंका को हिरासत में ले लिया और चुनार ले जाते समय कांग्रेस कार्यकर्ता उनके गाड़ी के सामने लेट गए और जमकर नारेबाजी की। वहां मौजूद पुलिस टीम ने सड़क पर लेटे कांग्रेस कार्यकर्ताओं को घसीटते हुए सड़क के किनारे कर दिया।
रामराज सिंह के नेतृत्व में बाइपास त्रिमोहानी नरायनपुर में प्रियंका गांधी के स्वागत के लिए जुटे सैकड़ों लोगों ने जब प्रियंका गांधी को रोके जाने की खबर सुनी तो धरना स्थल पर पहुंच गए और नारेबाजी करने लगे। । जिसमें मुख्य रुप से रामराज सिह पटेल के साथ अशोक दीक्षित, जगदीश राय, कमला गुप्ता, रणजीत सिह, राजेश निषाद, डा. सीबी तिवारी, हनीफ खान, हरसुपति सिह, आदि तमाम लोग थे।

 

 

 

सोनभद्र हिंसा में मारे गए लोगों के परिजनों को मुआवजा दे सरकार: प्रियंका गांधी
नरायनपुर पुलिस चौकी पर भारी पुलिस बल जुट गई थी। वाराणसी के जिलाधिकारी व वरिष्ट पुलिस अधीक्षक, क्षेत्राधिकारी चुनार व कई थाना की पुलिस जुट गई थी। प्रियंका ने कहा कि सोनभद्र में धारा 144 लगने की स्थिति में मैं 3 लोगो के साथ परिजनों से मिलने वहां जाऊंगी जिससे धरा 144 का उलंघन न हो सके। उन्होंने कहा जिस तरह से सोनभद्र के घोरावल क्षेत्र में जमीनी विवाद में नर संहार किया गया उसकी कांग्रेस जमकर भर्त्सना करती है। नर संहार में जिनकी भी मौत हुई है उनके परिजनों के पुनर्वास की व्यवस्था के साथ मुआवजे सरकार दे।


BY-Suresh Singh