स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

जिलाधिकारी अनुराग पटेल का तबादला, इस बयान की वजह से आये थे सुर्खियों में

Akhilesh Kumar Tripathi

Publish: Nov 01, 2019 10:03 AM | Updated: Nov 01, 2019 10:03 AM

Mirzapur

मिर्ज़ापुर में अनुराग पटेल लगभग 15 महीनों तक जिलाधिकारी के पद पर रहे

मिर्जापुर. जिले में नमक- रोटी प्रकरण में अपने बयान को लेकर चर्चित रहे जिलाधिकारी अनुराग पटेल काशासन ने स्थानांतरण करते हुए लखनऊ में विशेष सचिव कृषि उत्पादन पद पर किया गया है। विशेष सचिव ऊर्जा सुनील कुमार पटेल को मिर्ज़ापुर जिलाधिकारी बनाया गया है। मिर्जापुर में अनुराग पटेल लगभग 15 महीनों तक जिलाधिकारी के पद पर रहे। इस दौरान जहां वह अपने काम को लेकर चर्चित रहे तो वहीं मिर्ज़ापुर नगर पालिका अध्यक्ष मनोज जायसवाल के साथ पूरे कार्यकाल में छतीस का आंकड़ा रहा, लेकिन डीएम के रूप में सबसे ज्यादा चर्चित अनुराग पटेल जमालपुर के सियुर प्राथमिक विद्यालय मिड डे मील में बच्चों को नमक-रोटी मामले से हुये।

जहां पर खबर बनाने वाले पत्रकार पर उन्होंने अहरौरा थाने में मुकदमा दर्ज करवा दिया। इसके बाद मामले में मीडिया में दिए उनके बयान को लेकर सोशल मीडिया पर उनकी खूब फजीहत हुई। हालांकि इस मामले में शासन ने अनुराग पटेल पर कोई कार्रवाई नही किया। मगर जिस तरह से पूरे मामले में योगी सरकार की फजीहत हुई, उससे आशंका जताई जा रही था कि मामला ठंडा पड़ने के बाद इस मामले में जरूर शासन की तरफ से बड़ी कार्रवाई की जाएगी। अनुराग पटेल की डीएम पद पर नियुक्ति के बाद उन्हें पूर्व केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल का खास माना जाता था। मगर लोकसभा चुनाव के बाद उन्होंने अपना पाला बदल लिया था, जिससे पूर्व केंद्रीय मंत्री का खेमा भी उनसे नाराज था।

BY- SURESH SINGH

[MORE_ADVERTISE1]