स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

जानिये कौन हैं राजनाथा सिंह के करीबी बृजभूषण सिंह, जिन्हे भाजपा ने दोबारा बना दिया जिलाध्यक्ष

Ashish Kumar Shukla

Publish: Nov 28, 2019 11:11 AM | Updated: Nov 28, 2019 11:11 AM

Mirzapur

छात्र राजनीति से किया था कैरियर की शुरूआत

मिर्ज़ापुर. बुधवार की देर रात भाजपा ने 59 जिलाध्यक्षों की सूची जारी कर एक बार फिर संगठन को मजबूती देने का काम किया है। वाराणसी से फिर हंसराज विश्वकर्मा तो मिर्जापुर से एक बार फिर रक्षामंत्री राजनाथ सिंह के करीबी बृजभूषण सिंह को को पार्टी ने मौका दे दिया है। बृजभूषण सिंह के पार्टी के जिला अध्यक्ष बनने के बाद तमाम कयासों पर भी विराम लग गया है।

बतादें कि 2019 लोकसभा चुनाव से ठीक पहले बालेन्द्र मणि त्रिपाठी को हटाकर भाजपा ने बृजभूषण सिंह को जिले की कमान सौंपी थी। कहा जाता है कि मिर्जापुर की सांसद और अपना दल की नेता अनुप्रिया पटेल के कहने पर ही बालेन्द्र को हटाया गया।

बृजभूषण के हाथ में कमान जाते ही यहां भाजपा को बड़ी मजबूती मिली। भाजपा गठबंधन को जिताने में भी सिंह ने कड़ी मेहनत किया। अब इस बार बी जिलाध्यक्ष पद की चर्चा शुरू हुई तो माना जा रहा था कि सिंह को ही कमान मिलेगी और ऐसा ही हुआ। इस पद की रेस में सिंह के अलावा 19 लोग शामिल थे।

राजनितिक सफर

छात्रजीवन से राजनीति की शुरूआत करने वाले बृजभूषण सिंह केबी पीजी कालेज के छात्र संघ के अध्यक्ष रहे। इसके बाद भाजपा से जुड़े और कई सालों तक भाजपा युवा मोर्चा के जिलाध्यक्ष रहे। पार्टी में विभिन्न संगठन पद पर कार्य करते हुए 2019 में जिलाध्यक्ष बने। हालांकि पहली बार अध्यक्ष बनने के बाद उन्हें अनुप्रिया पटेल के अनुकंपा पर मनोनीत अध्यक्ष के तौर पर देखा गया। मगर इसके बाद उन्होंने अध्यक्ष पद पाने के बाद संगठन में मजबूत पकड़ बनाया । दोबारा संगठन चुनाव में पार्टी अध्यक्ष पद पर वापसी कर विरोधियों की बोलती बंद कर दिया। बृजभूषण सिंह और उनका परिवार शुरू से ही संघ से जुड़ा रहा है। संघ की पृष्ठभूमि से आने के कारण ही पार्टी में उनकी स्थिति शुरू से ही काफी मजबूत रही है।

[MORE_ADVERTISE1]