स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

इस संगठन ने सोनभद्र नरसंहार का आरोप आईएएस पर लगाया, राज्यपाल से की ये मांग, देखें वीडियो

Sanjay Kumar Sharma

Publish: Jul 20, 2019 16:22 PM | Updated: Jul 20, 2019 16:22 PM

Meerut

खास बातें

  • प्रदेश में जंगलराज के खिलाफ मेरठ में प्रदर्शन
  • शोषित क्रांति दल ने राज्यपाल को भेजा ज्ञापन
  • राज्यपाल से कानून व्यवस्था में सुधार की मांग

 

मेरठ। प्रदेश में बढ़ते अपराधों और खराब होती कानून व्यवस्था के खिलाफ शोषित क्रांति दल (Shoshit Kranti Dal) ने मेरठ में कमिश्नरी पर प्रदर्शन किया गया। संगठन के सदस्यों ने यूपी के राज्यपाल (Governor Of UP) से मांग की कि वह कानून व्यवस्था पर सरकार को जगाएं। दल के अध्यक्ष रविकांत ने कहा कि राज्य में जंगलराज हो गया है। उन्होंने आरोप लगाया कि एक भू माफिया आईएएस (IAS) के कारण सोनभद्र नरसंहार हुआ है। उन्होंने कहा कि सपा नेता आजम खान (SP leader Azam Khan) के खिलाफ झूठे मुकदमे किए गए हैं।

यह भी पढ़ेंः Kanwar Yatra 2019 की वजह से इतने दिन बंद रहेंगे स्कूल

सरकार ने अपराधियों को दे रखी खुली छूट

संगठन के पदाधिकारियों ने आरोप लगाया कि सरकार ने अपराधियों को खुली छूट दे रखी है। महिलाओं के साथ जो घटनाएं हो रही हैं वह शर्मनाक हैं। कचहरी में चेंबर और जेल में हत्याएं हो रही हैं। अपराधी जहां जा नहीं सकते वहां हथियार लेकर जा रहे हैं। अपराधी खुलेआम घूम रहे हैं, अपराधियों को जेल में होना चाहिए। सरकार ने अपराधियों को खुली छूट दे रखी है। संगठन ने राज्यपाल को भेजे ज्ञापन में कानून व्यवस्था (Law and order) के मुद्दे पर सरकार को घेरा है। प्रदेश में बिगड़ती कानून व्यवस्था के मुद्दे पर राज्यपाल से मांग की है। संगठन के पदाधिकारियों ने सूबे की कानून-व्यवस्था पर सवाल उठाते हुए राज्य की योगी आदित्यनाथ सरकार पर निशाना साधा।

यह भी पढ़ेंः सुनवार्इ नहीं होने से परेशान व्यापारी ने थाने के सामने पेट्रोल डालकर खुद को आग लगाई, देखें वीडियो

कानून व्यवस्था दुरुस्त करने की मांग

प्रदर्शन कर रहे लोगों का कहना था कि राज्य में कानून व्यवस्था फेल है और प्रदेश में जंगलराज है। उन्होंने कहा कि एक तरफ प्रदेश में कानून-व्यवस्था को लेकर बैठकें हो रही हैं और वहीं दूसरी तरफ अपराधी घटनाओं को अंजाम दे रहे हैं। उन्होंने राज्य में कानून व्यवस्था दुरुस्त करने की मांग की।

UP News से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Uttar Pradesh Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर ..