स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

Weather Report: बारिश नहीं होने से बिगड़ रही स्थिति, मौसम वैज्ञानिकों ने दी ये चेतावनी

Sanjay Kumar Sharma

Publish: Jul 20, 2019 18:44 PM | Updated: Jul 20, 2019 18:44 PM

Meerut

खास बातें

  • वेस्ट यूपी के 11 जिलों में से 9 में सामान्य से कम बारिश
  • मानसून देरी से पहुंचने के बावजूद कर्इ इलाके अभी भी सूखे
  • बारिश कम होने से पूरे साल के मौसम चक्र पर पड़ेगा असर

मेरठ। सावन (Sawan) के शुरू होने के बावजूद भी वेस्ट यूपी-एनसीआर (West UP) के लोग बारिश (Rain) के लिए तरस रहे हैं। अभी तक वेस्ट यूपी के मेरठ (Meerut) समेत नौ जनपदों में सामान्य से कम बारिश रिकार्ड हुर्इ है। दिन-रात का तापमान बढ़ रहा है, बादल भी आसमान में आ रहे हैं, लेकिन बारिश नहीं हो रही है। मौसम वैज्ञानिकों (Weather Scientists) ने चेतावनी (Alert) दी है कि अगर यही स्थिति रही आैर बारिश नहीं होती है इन इलाकों में गर्मी का असर बढ़ेगा आैर वेस्ट यूपी में पूरे साल के मौसम चक्र पर इसका बुरा असर पड़ेगा।

यह भी पढ़ेंः Breaking: थाने के सामने खुद को आग लगाने वाले व्यापारी की मौत, घर में मचा कोहराम, व्यापारियों में गुस्सा, देखें वीडियो

वेस्ट यूपी में अभी तक कम बारिश

मेरठ आैर आसपास के क्षेत्रों में सामान्य से कम बारिश पड़ी है। दिन-रात के तापमान में बढ़ोतरी हो रही है। शनिवार की दोपहर को अधिकतम तापमान 33.6 डिग्री रहा। आसमान में बादल होने के बावजूद बारिश नहीं हो रही है। जुलार्इ में अभी तक सामान्य से 43 फीसदी कम बारिश हुर्इ है। सामान्य तौर पर मानूसन में अब तक 196.2 मिमी बारिश हो जाती है, लेकिन अभी तक मेरठ 111 मिमी बारिश ही हुर्इ है। इसी तरह गाजियाबाद में 82 फीसदी, हापुड़ में 71 फीसदी, बुलंदशहर में 60 फीसदी, मुजफ्फरनगर में 35 फीसदी, गौतम बुद्ध नगर में 24 फीसदी, रामपुर में 9 फीसदी, बागपत में 15 फीसदी आैर सहारनपुर में 2 फीसदी कम बारिश हुर्इ है। केवल मुरादाबाद आैर बिजनौर में ही सामान्य से ज्यादा बारिश हुर्इ है, हालांकि इनके आंकड़े में भी ज्यादा फर्क नहीं है।

यह भी पढ़ेंः इस संगठन ने सोनभद्र नरसंहार का आरोप आईएएस पर लगाया, राज्यपाल से की ये मांग, देखें वीडियो

मौसम वैज्ञानिकों ने दी ये चेतावनी

वेस्ट यूपी में सामान्य से कम बारिश होने पर मौसम वैज्ञानिकों ने चिंता जतार्इ है। मौसम वैज्ञानिक डा. यूपी शाही का कहना है कि वेस्ट यूपी 11 जिलों में से नौ में कम बारिश होना अच्छे संकेत नहीं है। वेस्ट यूपी में मानसून (Monsoon) देरी से पहुंचने के बाद बारिश नहीं होने से आने वाले समय में स्थिति विकट बन सकती है। मौसम वैज्ञानिक एन. सुभाष ने कहा कि मानसून के दिनों में बारिश कम होना अच्छे संकेत नहीं है। इसका असर पूरे साल के मौसम चक्र पर पड़ेगा। यही वजह है कि बारिश कम होने से दिन-रात के तापमान में बढ़ोतरी हो रही है।

UP News से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Uttar Pradesh Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर ..