स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

योगी मंत्रिमंडल के लिए विधायकों में चल रही खींचतान, दौड़ में ये दिग्गज शामिल

Sanjay Kumar Sharma

Publish: Aug 18, 2019 17:20 PM | Updated: Aug 18, 2019 17:20 PM

Meerut

खास बातें

  • योगी सरकार के मंत्रिमंडल में शामिल होने के लिए जोर आजमाइश
  • क्षेत्रीय और जातिगत समीकरण को ध्यान में रखकर चुना जाएगा मंत्री
  • मेरठ से चार विधायक मंत्री बनने के लिए लगा रहे पूरा जोर

मेरठ। प्रदेश में योगी सरकार के मंत्रिमंडल को लेकर यहां के विधायकों में खींचतान चल रही है। मंत्री बनने की होड़ में इन्होंने पूरा जोर लगा रखा है कि उन्हें भी मंत्रिमंडल में मौका दिया जाए। सोमवार को योगी मंत्रिमंडल के विस्तार की चर्चा के बाद मेरठ के चार विधायक इसी काम में जुटे हैं। पार्टी सूत्रों की मानें तो मंत्रिमंडल में उन्हीं विधायकों को मंत्री पद मिलेगा, जो जातीय समीकरण के साथ क्षेत्रीय संतुलन बनाने में भी फिट बैठते हों। ऐसे में मेरठ से किसी मंत्री का बनना मुश्किल हो जाएगा, क्योंकि यहां के समीकरण कुछ अलग हैं।

यह भी पढ़ेंः दिव्यांग के धर्म परिवर्तन की कोशिश पर हुआ जमकर हंगामा, पुलिस ने आरोपी को छोड़ा

फायरब्रांड विधायक समेत चार दौड़ में

पार्टी सूत्रों की मानें तो योगी सरकार के मंत्रिमंडल में शामिल होने के लिए मेरठ जनपद के चार विधायक मंत्री बनने की दौड़ में माने जा रहे हैं। इनमें पार्टी के फायरब्रांड सरधना विधायक संगीत सोम के साथ-साथ डा. सोमेंद्र तोमर, दिनेश खटीक व जितेंद्र सतवाई शामिल हैं। पार्टी के शीर्ष नेताओं से जुड़ाव की अगर बात करें तो इन चारों की बेहतर पकड़ है। पार्टी के मूल कैडर बेस के आधार पर मंत्री बनाए जाने की बात करें तो इनमें एमएलसी अशोक कटारिया और मेरठ दक्षिण विधायक डा. सोमेंद्र तोमर के बीच सीधी टक्कर मानी जा रही है। वेस्ट यूपी में भाजपा से पांच गुर्जर विधायक हैं। पार्टी के फायरब्रांड विधायक संगीत सोम पिछले विस्तार के दौरान भी चर्चा में रहे थे, लेकिन उस समय उन्हें मौका नहीं दिया गया था तो इस बार भी वह मंत्री बनने की दौड़ में शामिल हैं।

यह भी पढ़ेंः Alert: मौसम विभाग ने बारिश को लेकर दी बड़ी चेतावनी, ग्रामीणों के लिए अलर्ट जारी

वेस्ट यूपी के विधायकों में खींचतान

वेस्ट यूपी के तीन मंडलों के 14 जिलों में 71 विधान सभा सीटों पर 52 विधायक हैं। इनमें बलदेव सिंह ओलख, अतुल गर्ग, चेतन चैहान, भूपेंद्र चैधरी, गुलाबो देवी, धर्म सिंह सैनी व सुरेश राणा शामिल हैं। 44 में से एक विधायक को मंत्री बनने का मौका मिलेगा। ऐसे में वेस्ट यूपी में विधायकों में मंत्री बनने के लिए खींचतान बनी हुई है। जातिगत और क्षेत्रीय संतुलन को प्राथमिकता मानकर संगठन मंत्री चुनेगा।

UP News से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Uttar Pradesh Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर ..