स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

भाजपा सांसद की कॉलोनी में लगे 'मकान बिकाऊ है’ के पोस्टर, दूसरे समुदाय के लोगों पर लड़कियों से छेड़छाड़ का आरोप

Rahul Chauhan

Publish: Jul 20, 2019 17:14 PM | Updated: Jul 20, 2019 17:14 PM

Meerut

खबर की मुख्य बातें-

-पीड़ितों से चंद कदम की दूरी पर ही भाजपा सांसद राजेन्द्र अग्रवाल रहते हैं

-भाजपा के जिलाध्यक्ष भी इसी शास्त्रीनगर कालोनी में निवास करते हैं

-इसके बाद भी यहां के लोग छेड़छाड़ से परेशान होकर पलायन की बात कह रहे हैं

मेरठ। मेरठ के प्रहलाद नगर कालोनी में पलायन का मामला अभी शांत भी नहीं हुआ कि अब हिन्दू बाहुल्य शास्त्रीनगर जैसी पाॅश कालोनी में भी अराजकतत्वों के कारण लोग पलायन के लिए मजबूर हो गए हैं। लोगों ने अपने घरों के बाहर 'मकान बिकाऊ है' के पोस्टर चिपका दिए हैं।

यह भी पढ़ें: समाजसेविका ने इस नेता पर लगाया गैंगरेप का आरोप, एसपी क्राइम ने दिए जांच के आदेश, देखें वीडियो

यह हाल तब है जब पीडितों से चंद कदम की दूरी पर ही भाजपा सांसद राजेन्द्र अग्रवाल रहते हैं। भाजपा के जिलाध्यक्ष भी इसी शास्त्रीनगर कालोनी में निवास करते हैं। इसके बाद भी यहां के लोग छेड़छाड़ से परेशान होकर पलायन की बात कह रहे हैं। पीड़ित महिला नीरज पुंडीर ने बताया कि उनका और उनके परिवार की लड़कियों का बाहर निकलना मुश्किल किया हुआ है।

उन्होंने बताया कि आसपास के कुछ मकानों को दूसरे समुदाय के लोगों ने खरीद लिया है। इन लोगों के यहां अराजकतत्वों का आना जाना है। वे तेज बाइक से हॉर्न बजाते हुए उनके घर के सामने से निकलते हैं। तेज आवाज में अश्लील गाने बजाये जाते हैं। मना करने पर लड़ाई पर उतर आते हैं। इसकी शिकायत कई बार थाने में की जा चुकी हैं लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई।

यह भी पढ़ें : इस संगठन ने सोनभद्र नरसंहार का आरोप आईएएस पर लगाया, राज्यपाल से की ये मांग, देखें वीडियो

पीड़ित महिला का आरोप है कि हम लोग अपने घरों में कैद होकर रह गए हैं। पहले ये लोग एक दो मकानों में ही सीमित थे। लेकिन अब इनके पंद्रह-बीस घर हो गए हैं। जिसके कारण इनके यहां अराजक किस्म के युवकों का आना जाना लगा रहता है। आरोप है कि लड़कियां अगर घर से बाहर खड़ी होती हैं तो उन पर छीटाकशी की जाती हैं। आए दिन चेन तोड़ ली जाती है। वे कई बार इसकी शिकायत कर चुकी हैं। लेकिन उनकी कोई सुनवाई नहीं होती। इसलिए वे अपना मकान बेचकर यहां से जाना चाहती हैं। एसपी सिटी डॉ ए.एन सिंह का कहना है कि इस तरह के मामले की सूचना तो मिली है कि कोई परिवार पलायन करने की बात कर रहा है। इस संबंध में पूर्ण जानकारी के लिए थानाध्यक्ष से रिपोर्ट मांगी गई है। उधर, शास्त्रीनगर मंडल अध्यक्ष संजीव शर्मा का कहना है कि उनके संज्ञान में ऐसा कोई मामला नहीं है। अगर ऐसा कुछ है तो इस पर जरूर ध्यान दिया जाएगा।