स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

ट्रेन में दिया बेटे को जन्म, एंबुलेंस की इंतजार में स्टेशन पर तड़पती रही महिला

Sanjay Kumar Sharma

Publish: Aug 17, 2019 16:22 PM | Updated: Aug 17, 2019 16:22 PM

Meerut

खास बातें

  • उधमपुर- इलाहाबाद एक्सप्रेस में दिया बच्चे को जन्म
  • सिटी रेलवे स्टेशन पर नहीं थी स्वास्थ्य सुविधाएं
  • महिला यात्रियों ने पीड़िता के चारों ओर घेरा बनाया

मेरठ। उधमपुर- इलाहाबाद एक्सप्रेस में महिला ने ट्रेन में बच्चे को जन्म दिया। महिला को बेहोशी की हालत में मेरठ सिटी रेलवे स्टेशन पर उतार लिया गया, लेकिन एंबुलेंस के लिए फोन करने के बावजूद आधे घंटे तक वह नहीं पहुंची। इस दौरान महिला प्लेटफार्म पर तड़पती रही और वहां मौजूद महिला यात्रियों ने घेरा बनाकर महिला का ढांढस बंधाती रही। डीआरएम एससी जैन का कहना है कि इस बारे में उन्हें जानकारी नहीं है, लेकिन उन्होंने भविष्य में स्टेशन पर इमरजेंसी चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराने के दिए हैं।

यह भी पढ़ेंः छेड़छाड़ से परेशान बेटी ने छोड़ा ट्यूशन, सीएम से गुहार लगाने के बाद हरकत में आयी पुलिस

परिवार के साथ जा रहे थे घर

जालंधर में स्पोर्ट्स फैक्ट्री में काम करने वाले मैनपुरी के जीतू कुमार उधमपुर-इलाहाबाद एक्सप्रेस के एस वन कोच में सवार होकर आठ महीने की गर्भवती पत्नी रजनी और चार वर्षीय बेटे के साथ अपने घर जा रहे थे। रास्ते में रजनी की तबीयत बिगड़ गई। प्रसव पीड़ा होने पर ट्रेन में सवार महिला यात्रियों की सहायता से रजनी ने बेटे को जन्म दिया। शुक्रवार की सुबह करीब साढ़े चार बजे ट्रेन मेरठ सिटी स्टेशन पर पहुंची। उस समय रजनी अर्द्ध बेहोशी की हालत में थी। हालत बिगड़ती देख जीतू कुमार अपनी पत्नी और बच्चे को लेकर ट्रेन से उतर गए।

यह भी पढ़ेंः पत्नी को चाकू मारकर पति बोला- तलाक, विरोध करने पर सास की भी पिटाई, फिर लोगों ने किया ये काम

जीआरपी ने किया एंबुलेंस के लिए फोन

जीतू कुमार ने सारी बातें स्टेशन के जीआरपी स्टाफ को बताई। जीआरपी स्टाफ ने 108 एंबुलेंस पर फोन किया। पीड़िता रजनी की हालत खराब देख वहां मौजूद महिला यात्रियों ने रजनी के चारों ओर घेरा बनाकर खड़ी हो गई, लेकिन एंबुलेंस करीब आधा घंटे बाद यहां पहुंची। तब तक वह ऐसे ही प्लेटफार्म पर तड़पती रही। सिटी रेलवे स्टेशन में हेल्थ सेंटर और महिला चिकित्सक की भी तैनाती है, लेकिन यह बंद होने से रजनी का उपचार नहीं हो पाया। हालत ठीक होने के बाद यह परिवार अपने घर चला गया। इस घटना को लेकर सिटी स्टेशन पर चर्चा बनी हुई है। डीआरएम एससी जैन का कहना है कि स्टेशन पर यात्रियों को इमरजेंसी चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराने के निर्देश दिए गए हैं।

UP News से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Uttar Pradesh Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर ..