स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

उपचुनाव: घोसी में वोट पड़ने से पहले ही लगी वोटरों की लम्बी कतारें

Mohd Rafatuddin Faridi

Publish: Oct 21, 2019 08:02 AM | Updated: Oct 21, 2019 08:02 AM

Mau

घोसी में 11 प्रत्याशी मैदान में हैं।

मऊ. घोसी विधानसभा सीट पर हो रहे उपचुनाव के लिये सोमवार की सुबह मतदान शुरू हो गया। समय से पहले ही कुछ मतदाता अपने बूथ पर मतदान करने के लिए पहुंच गये। फागू चौहान के बिहार का राज्यपाल बनने से रिक्त हुई सीट पर हो रहे चुनाव में 11 प्रत्याशी मैदान में हैं, जिनकी किस्मत का फैसला 4 लाख 23 हजार 952 मतदाताओं को करना है। मतदान के लिये 227 मतदान केंद्रों पर दो हजार मतदानकर्मियों की ड्यूटी लगायी गयी है। इस दौरान कड़ी सुरक्षा के इंतजाम किये गये है।

4 लाख 23 हजार 952 मतदाताओं में 2 लाख 28 हजार 854 है पुरुष जबकि महिला वोटर 1 लाख 95 हजार 94 है। वोटिंग के लिये 454 बूथों बनाए गए हैं। चुनाव पर 27 सेक्टर, 4 जोनल व 12 स्टेटिक मजिस्ट्रेटों की पैनी नजर रहेगी। सुरक्षा में कोई चूक न हो इसके लिये एसपी अनुराग आर्य खुद निगरानी कर रहे हैं।

घोसी विधानसभा उपचुनाव में सुरक्षा बलों की कड़ी निगरानी में मतदान कराने की तैयारी है। इसके लिए पूरी व्यवस्था कर ली गयी है। बूथों पर पैरामिलिट्री फोर्स के साथ साथ भारी संख्या में पुलिस के जवान भी तैनात किये गए हैं। इसके अलावा सीएपीएफ के साथ पीएसी और फोर्स की तैनाती है। मतदान केन्द्रों पर सुरक्षा के ऐसे प्रबंध का दावा किया गया है, ताकि परिंदा भीपर न मार सके। परिंदा भी पर नहीं मार सकेगा।

जनपद को तीन कम्पनी सीएपीएफ आवंटित है। इसके अलावा बूथों पर 15 कम्पनी पैरामिलिट्री के जवान तैनात हैं। 50 दरोगा, 100 सब हेड कांस्टेबल, 550 आरक्षी और एक हजार होमगार्डों की तैनाती है। इसके अलावा कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए दो अपर पुलिस अधीक्षक, छह क्षेत्राधिकारी, 32 इंस्पेक्टर, 70 दरोगा, 20 हेड कांस्टेबिल, 300 आरक्षी, 200 होमगार्ड और दो कम्पनी पीएसी व सीएपीएफ के जवान तैनात है।

निर्वाचन आयोग की तरफ से घोसी विधानसभा उपचुनाव में निगरानी रखने के लिए 20 डिजिटल कैमरा और 30 वीडियो कैमरा लगाया गया है। जो पल-पल की तस्वीरों को कैमरे में कैद करेंगी। कोई चूक न हो जाये इसके लिए पुलिस अधीक्षक खुद पूरे मामले में निगरानी रखेंगे।

By Correspondence