स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

मऊ ब्लास्ट की तरह जौनपुर में भी हुआ था हादसा, ऑक्सीजन सिलेंडर ब्लॉस्ट से हुई थी छह की मौत

Sarweshwari Mishra

Publish: Oct 14, 2019 11:07 AM | Updated: Oct 14, 2019 11:07 AM

Mau

मोहम्दाबाद कोतवाली क्षेत्र के वलीदपुर गांव में रसोई गैस का सिलेंडर फटने से दो मंजिला मकान ध्वस्त हो गया

मऊ. यूपी के मऊ के मोहम्दाबाद थाना क्षेत्र में गैस सिलेंडर फटने से 10 लोगों की मौत हो गई। यूपी में हुई 2019 की यह दूसरी बड़ी घटना है। इससे पहले जौनपुर में ऑक्सीजन सिलिंडर फटने से छह लोगों की मौत हो गई थी और करीब आधा दर्जन लोग घायल हो गए थी। विस्फोट के चलते दुकान जमींदोज हो गया था।


मऊ में रसोई गैस सिलेंडर फटने से हुआ हादसा
दरअसल, मोहम्दाबाद कोतवाली क्षेत्र के वलीदपुर गांव में रसोई गैस का सिलेंडर फटने से दो मंजिला मकान ध्वस्त हो गया। इस हादसे में 10 लोगों की मौत हो गई, जबकि एक दर्जन से ज्यादा लोगों के मलबे में दबे होने की आशंका है। हादसे 12 घायल हैं, जिनका इलाज जिला अस्पताल में चल रहा है। सूचना पर पहुंची पुलिसऔर फायर ब्रिगेड की टीम राहत और बचाव कार्य में जुटी है। पुलिस के अनुसार मौत का आंकड़ा बढ़ सकता है। हादसे में घायल 15 लोगों को इलाज के लिए जिला अस्पताल भेजा गया है। इलाज के दौरान तीन अन्य लोगों की भी मौत हो गई। जिस समय यह हादसा हुआ उस समय मकान में करीब दो दर्जन लोग मौजूद थे. फिलहाल राहत कार्य युद्ध स्तर पर चल रहा है।
घटना सुबह साढ़े सात बजे की है। सिलेंडर फटने के बाद मकान में आग लग गई, जिसे देखकर आस-पास के लोग मकान के अंदर घुसे। इसके बाद मकान भरभराकर गिर गया। अभी तक 10 लोगों के मरने की पुष्टि हो गई है, जबकि 12 अन्य घायल हैं, जिन्हें अस्पताल भेजा गया है. फिलहाल जेसीबी के माध्यम से मलबे को हटाने का काम चल रहा है। मौके पर एम्बुलेंस भी मौजूद है ताकि घयलों को जल्द से जल्द चिकित्‍सकीय सुविधा मुहैया कराई जा सके।

jaunpur blast
IMAGE CREDIT: net

28 मार्च 2019 को हुआ था जौनपुर में ऑक्सीजन सिलेंडर ब्लॉस्ट
28 मार्च 2019 को मऊ की जौनपुर में भी बड़ा हादसा हुआ था। लाइनबाजार थाना क्षेत्र के मातापुर कस्‍बे के समीप जगदीशपुर रेलवे क्रासिंग के समीप सिंह ऑक्सीजन गैसेज में गुरुवार की शाम गैस भरते समय अचानक सिलेंडर में धमाका हो गया था। इससे छह लोगों की मौत हुई थी और करीब आधा दर्जन लोग घायल हो गए थे। विस्फोट के चलते दुकान जमींदोज हो गई थी। हादसे के बाद मलबा गिरने से कई लोग उसकी जद में आए थे।