स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

महिला अधिकारी का आरोप, एसडीएम ने किया दुर्व्यवहार, कपड़ा भी फटा

Mohd Rafatuddin Faridi

Publish: Nov 05, 2019 15:16 PM | Updated: Nov 05, 2019 15:16 PM

Mau

महिला अधिकारी के आरोपों से एसडीएम ने किया इनकार, लगाए कई आरोप।

मऊ. यूपी के मऊ जिले में एक हाईप्रोफाइल बखेड़ा खड़ा हो गया। यहां एक महिला ग्राम विकास अधिकारी (वीडीओ) ने एक एसडीएम पर दुर्व्यवहार करने और कपड़ा फाड़ने का आरोप लगाया है। इसको लेकर महिला वीडीओ ने जमकर हंगामा भी किया और मीडिया से भी बदसुलूकी की। उस मामले में वीडीओ ने एसपी ऑफिस पहुंचकर एसडीएम के खिलाफ तहरीर भी दी, और जिलाधिकारी से भी शिकायत की। हालांकि एसडीएम ने अपने ऊपर लगाए गए आरोप को निराधार बताया है। उधर इस मामले में ग्राम विकास अधिकारी संघ भी वीडीओ के समर्थन में लामबंद हो गया है। संघ ने एसडीएम के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने के लिये 24 घंटे का अल्टिमेटम दिया है।

 

[MORE_ADVERTISE1]
[MORE_ADVERTISE2]

 

कोपागंज ब्लॉक की वीडीओ अधिकारी सपना सिंह ने आरोप लगाया है कि वह कलेक्ट्रेट से एक रिपोर्ट देकर लौट रही थीं। वहां जाम लगा था, इसी दौरान सदर एसडीएम अतुल वत्स की गाड़ी आ गयी। मैं पास देने में असमर्थ थी, इसके बाद उन्होंने मेरी गाड़ी रुकवा दी और मुझसे बदसुलूकी की। मारपीट और दुर्व्यवहार में कपड़े फटने का भी आरोप लगाया। इसके बाद वहां हाईप्रोफाइल हंगामा चला। भीड़ बढ़ गी और अफरा-तफरी से जाम जैसी स्थिति बन गयी। इसके बाद वीडीओ ने एसपी कार्यालय पहुंचकर एसडीएम अतुल वत्स के खिलाफ तहरीर दी और डीएम से भी शिकायत की।

 

उधर संयुक्त मजिस्ट्रेट एसडीएम सदर अतुल वत्स ने महिला वीडीओ के आरोपों को सिरे से खारिज कर दिया। उन्होंने कहा कि गाजीपुर तिराहे के नजदीक एक चार पहिया वाहन साइकिल सवार को धक्का मारते हुए आगे बढ़ गया। जब मैंने फातिमा चौराहे के नजदीक गाड़ी रुकवाकर पूछना चाहा तो उसमें बैठी महिला भड़क गयी और मेरे समेत वहां लोगों को भला-बुरा कहने लगी। कुछ मीडिया कर्मियों के साथ भी बदसुलूकी की। दावा किया कि उस समय महिला के कपड़े फटे नहीं थे। बाद में उसने घिनौने आरोप लगाए हैं, जो पूरी तरह से झूठे और निराधार हैं।

By Correspondence

[MORE_ADVERTISE3]