स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

जानिये कौन हैं फागू चौहान जिन्हें बनाया गया है बिहार का राज्यपाल

Mohd Rafatuddin Faridi

Publish: Jul 20, 2019 15:22 PM | Updated: Jul 20, 2019 15:22 PM

Mau

1985 में पहली बार दलित मजदूर किसान पार्टी से बने थे विधायक।

मऊ. यूपी के दलित नेता फागू चौहान को बिहार का राज्यपाल बनाया गया है। फागू चौहान मऊ जिले की घोसी विधानसभा सीट से छह बार जीत दर्ज करने वाले एकमात्र विधायक हैं। वो पहली बार 1985 में दलित मजदूर किसान पार्टी से विधायक बने थे। इसके बाद वह कई पाटिर्या में रहे और विधानसभा के चुनाव लड़े व जीते भी।

 

उन्होंने 2017 के विधानसभा चुनाव में बाहुबली मुख्तार अंसारी के बेटे अब्बास अंसारी को हराया। हालांकि 2019 के लोकसभा चुनाव में भाजपा घोसी लोकसभा सीट हार गयी। फागू चौहान को योगी सरकार ने उत्तर प्रदेश पिछड़ा वर्ग आयोग का चेयरमैन भी बनाया। चौहान वोटों की मऊ में अच्छी तादाद है और फागू चौहान की उन वोटों पर मजबूत पकड़ मानी जाती है, जिसके दम पर वह रिकॉर्ड छह बार चुनाव जीते।

 

चौहान समुदाय से आने वाले फागू चौहान का जन्म आजमगढ़ के शेखपुरा में 1948 हुआ। अपनी राजनीतिक पारी की शुरुआत करते हुए वो दलित मजदूर पार्टी से घोसी विधानसभा से 1948 में विधायक चुने गए।

 

इसक बाद जनता दल में चले गए। जनता दल के टिकट पर वह 1991 में विधायक बने। इन्होंने फिर बीजेपी का दामन थामा और 1996 व 2002 में बीजेपी से घोसी विधानसभा से विधायक चुने गए। दो बार विधायक बनने के बाद भाजपा छोड़ यह बसपा में आ गए और 2007 में बसपा के टिकट पर घोसी से विधायक चुन लिये गए। हालांकि उन्होंने बसपा का साथ भी छोड़ा और वापस बीजेपी में आ गए। 2017 के चुनाव में उन्होंने भाजपा के टिकट पर बसपा प्रत्याशी और बाहुबली मुख्तार अंसारी के बेटे अब्बास अंसारी को कड़े मुकाबले में 7003 वोटों से हरा दिया।