स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

प्यार में बाधा बन रहा था पति, पत्नी ने प्रेमी के साथ मिलकर रची खतरनाक साजिश और फिर...

Akhilesh Kumar Tripathi

Publish: Aug 03, 2019 16:52 PM | Updated: Aug 03, 2019 18:03 PM

Mau

पुलिस ने मामले में तीन लोगों को गिरफ्तार किया है, आरोपियों ने घटना में शामिल होने की बात कबूल कर ली है ।

मऊ. 28 जुलाई को दक्षिणटोला थाना क्षेत्र में युवक की हत्या के मामले का पुलिस ने खुलासा कर दिया है । पत्नी ने ही प्रेमी के साथ मिलकर इस घटना को अंजाम दिया है । पुलिस ने मामले में तीन लोगों को गिरफ्तार किया है, आरोपियों ने घटना में शामिल होने की बात कबूल कर ली है ।


28 जुलाई को दक्षिण टोला थाना क्षेत्र के मतलुपुरा मोड़ से काशीराम आवास की तरफ जा रही सड़क फैयाज अपनी पत्नी निशा और बच्ची के साथ बाइक से जा रहा था, उसी समय बाइक पर सवार हो कर आये दो लोगों ने फैयाज पर चाकू से हमला कर दिया, जिसकी इलाज के दौंरान मौत हो गयी। घटना के बाद पुलिस टीम हत्याकांड की गुत्थी को सुलझाने के लिए जुटी हुई थी।

 

 

 

क्षेत्राधिकारी सदर राजकुमार ने बताया कि पुलिस अभी मामलें की तफ्तीश में जुटी ही थी कि मुखबिर ने बताया कि उक्त हत्या की घटना में दक्षिण टोला थाने के साकिन प्यारेपुरा मुहल्ला निवासी मृतक की पत्नी निशा ने ही षङयन्त्र करके अपने प्रेमी आफताब और उसके दोस्त सुफियान जो कि मुहम्मदाबाद गोहना कोतवाली के बरईपुर गांव के निवासी है, उनके साथ मिल कर किया था। जिसके बाद पुलिस टीम ने तीनों को दशई पोखरा के पास से गिरफ्तार किया, साथ ही घटना में उपयोग की गई बाइक को बरामद किया।

 

पूछताछ में आरोपी प्रेमी आफताब ने बताया कि निशा से उसका प्रेम हो गया था, निशा अपने पति को छोड़कर मेरे साथ रहना चाहती थी। लेकिन उसका पति उसे छोङने को तैयार नही था। जिसके बाद मिलकर उसे रास्ते से हटाने का साजिश रचा गया और अपने दोस्त के साथ मिल कर उसकी चाकू से गोद कर हत्या कर दिया गया। घटना में उपयोग किये गये चाकू को बख्ताबरगंज पुल से तमसा नदी में फेंक दिया गया।


बता दें कि मृतक फैयाज एक लाइलाज बीमारी से ग्रसित था। वह नगर पालिका में संविदा कर्मी के पद पर 6 हजार रुपये में काम करता था। इस सब के बीच पत्नी निशा काफी चिंतित रहती थी और वह अपने पति से छुटकारा पाना चाहती थी। उसके प्रेमी आफताब ने उसे प्रलोभन दिया कि वह अपना घर छोड़कर उसके साथ मुम्बई में बस जायेगा। लेकिन पति अपने इस कठिन दौर में भी पत्नी निशा को छोङना नही चाहता था, जिसके बाद निशा ने घिनैनी साजिश रच कर पूरे घटना क्रम को अंजाम दिया।