स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

यूपी उपचुनाव: एक ऐसा प्रत्याशी, जिसे राष्ट्रपति, उप राष्ट्रपति और राज्यपाल का नाम तक नहीं मालूम

Akhilesh Kumar Tripathi

Publish: Sep 30, 2019 19:57 PM | Updated: Sep 30, 2019 19:57 PM

Mau

'अज्ञानी' प्रत्याशी के दम पर घोसी विधानसभा का उपचुनाव फतह करने की तैयारी में सुभासपा

मऊ. योगी सरकार के पूर्व कैबिनेट मंत्री और सुभासपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर अक्सर अपने विवादित बयानों से सुर्खियों में बने रहते हैं। मगर इस बार वह दूसरी वजह से सुर्खियों में है, दरअसल घोसी सीट से ओमप्रकाश राजभर ने जिस प्रत्याशी को चुनाव मैदान में उतारा है, उसे देश के राष्ट्रपति, उप राष्ट्रपति और यूपी के राज्यपाल का नाम तक नहीं पता है । घोसी सीट से नामांकन के आखिरी दिन नामांकन करने पहुंचे सुभासपा प्रत्याशी नीबू लाल राजभर से जब मीडिया ने राष्ट्रपति का नाम पूछा तो वह बता नहीं सके।

बता दें कि भाजपा से अलग होने के बाद राजभर ने बीजेपी के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है और घोसी सीट से अपना प्रत्याशी भी उतार दिया है। मगर सुभासपा का यह प्रत्याशी चुनाव से पहले ही पार्टी के लिये मुसीबत बन गया है।

पत्रकारों के सवाल का जबाव देते हुए नीबू लाल ने बताया कि वह अपने समाज के लिए चुनाव लड़ रहे हैं, उनका मुद्दा समाज की सेवा करना है। उनके नेता ओमप्रकाश राजभर अगर बीजेपी से टक्कर ले रहे है, तो वो उनके साथ खड़ें रहेंगे। इससे पहले नीबू लाल आर्मी में कार्यरत थे और पहली बार चुनाव लड़ने जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि पहले हमने देश का सेवा किया, लेकिन अब समाज की सेवा करने का उद्देश्य बनाया है। इसके बाद जब उनसे सवाल पूछा गया तो उपराष्ट्रपति, यूपी के राज्यपाल का नाम तक नहीं बता पाये। उन्होंने राष्ट्रपति का नाम रामा नन्द गोविन्द बताया। जब सवालों के जवाब नहीं दे पाये तो उन्होंने कहा कि जनता के बीच जायेंगे, तो सब जान जायेंगे।