स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

यूपी के मऊ में फर्जी पासपोर्ट रैकेट का खुलासा, दो पुलिसकर्मी सहित 10 गिरफ्तार

Akhilesh Kumar Tripathi

Publish: Dec 08, 2019 20:59 PM | Updated: Dec 08, 2019 20:59 PM

Mau

एक महिला हेड कांस्टेबल सहित चार पुलिसकर्मियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज, महिला हेड कांस्टेबल सहित दो लोग अभी भी फरार

मऊ. फर्जी पासपोर्ट रैकेट में शामिल एक महिला हेड कांस्टेबल सहित चार पुलिसकर्मियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। वहीं इस मामले में दो पुलिसकर्मियों सहित कुल दस लोगों को गिरफ्तार किया गया है। एलआईयू में तैनात महिला हेड कांस्टेबल सहित दो लोग अभी फरार है।

पुलिस अधीक्षक अनुराग आर्य ने बताया कि फर्जी पासपोर्ट बनाये जाने की सूचना पर स्वाट टीम से जांच कराई गई। जिसमें थाना कोपागंज में एक मुकदमा दर्ज कराया गया है, जिसमें 12 लोगों का नाम प्रकाश में आया है। इन 12 लोगों में से चार लोग पुलिस विभाग से तालुकात रखते है। जबकि आठ लोग पब्लिक के है। पकड़े गए लोगों में से कुछ मऊ जनपद के रहने वाले है और कुछ वाराणसी जनपद के रहने वाले है। ये लोग पासपोर्ट बनवाने के लिए एजेंटों के माध्यम से फर्जी मार्कशीट तैयार करवाते थे, ताकि उनको विदेश जाने में सुविधा हो सके।

[MORE_ADVERTISE1]
[MORE_ADVERTISE2]

पुलिस ने इस पूरे रैकेट का पर्दाफाश करते हुए 10 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। पकड़े गए लोगों के पास से फर्जी मार्कशीट बरामद किया गया है। साथ ही इनके लैपटॉप बरामद किए गए है। मार्कशीट बनाने में इस्तेमाल की जाने वाली बहुत सारी चीजें भी पुलिस ने बरामद किया है। वोटर आईडी कार्ड, आधार कार्ड, मोबाइल फोन भी इनके पास से बरामद किया गया है। इस रैकेट में शामिल पुलिस विभाग के चार लोंगो में से दो को गिरफ्तार कर लिया गया है और दो एलआईयू के स्टॉफ को भी इस पूरे मामले में आरोपी बनाया गया है। जिनकी गिरफ्तारी के लिए टीम लगी हुई है। जल्द ही उनको भी गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

इस पूरे खेल में एलआईयू के स्टाफ द्वारा पब्लिक के आदमी को लगाकर लोगों की जांच कराई जा रही थी। पुलिस ने इस पूरे खुलासे में 33 पासपोर्ट के फॉर्म को भी पकड़े गए लोगों के पास से बरामद किया है जो कि इनके एजेंट के रूप में काम करते थे। पकड़े गए इन लोगों के खिलाफ भी मुकदमा दर्ज कर इनको जेल भेजा जा रहा है। फरार चल रही हेड कांस्टेबल संध्या मिश्र और अनिल विश्वकर्मा को निलंबित किया गया है। इंस्पेक्टर रामधनी के खिलाफ भी निलबंन की कार्रवाई के लिए लिखा गया है।

[MORE_ADVERTISE3]