स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

यूपी बोर्ड की परीक्षा में इस वजह से नकल माफिया होंगे फेल, जानिए क्या है प्लान

Ashish Kumar Shukla

Publish: Nov 15, 2019 18:39 PM | Updated: Nov 15, 2019 18:39 PM

Mau

 

इस बार 129 परीक्षा केन्द्रों पर 93067 परीक्षार्थी देगे परीक्षा

मऊ. यूपी बोर्ड हाईस्कूल इंटरमीडिएट परीक्षा 2020 को नकल विहीन संपन्न कराने के लिए तैयारियां जोरों पर है। यूपी बोर्ड की तरफ से मऊ जिले में 129 परीक्षा केन्द्र बनाये गये है। इन केन्द्रों पर 93067 परीक्षार्थी परीक्षा में शामिल होगे। शासन की मंसा के अनुरुप किसी भी काली सूची में सामिल कालेजों को केन्द्र नही बनाया गया है।

बतादें कि यूपी बोर्ड परीक्षा को नकलविहीन संपन्न कराने के लिए माध्यमिक शिक्षा विभाग की तरफ से प्रस्तावित 129 परीक्षा केन्द्रों की सूची जारी की गयी है। वर्ष 2020 की यूपी बोर्ड हाईस्कूल, इंटरमीडिएट बोर्ड परीक्षा में 93067 परीक्षार्थी शामिल होंगे। पिछले वर्ष 157 परीक्षा केन्द्र बनाया गया था। इस बार 13 हजार छात्रों की कमी होने के कारण 28 परीक्षा केन्द्र कम बने है। 10 कालेजों को काली सूची यानि डिबार की लिस्ट में है।

जिनमें से किसी को भी केन्द्र नही बनाया गया है। सभी केन्द्रों का जिलाधिकारी ज्ञान प्रकाश त्रिपाठी की निगरानी में एसडीएम द्वारा जांच किया जा रहा है। जिस केन्द्र पर भी कमी पायी जाती है, उसे केन्द्र की सूची से बाहर कर दूसरे कालेज को केन्द्र बना दिया जायेगा।

इस बाबत जानकारी देते हुए जिला विद्यालय निरीक्षक राजेन्द्र प्रसाद ने बताया कि अच्छी छवि वाले कालेजों को परीक्षा केन्द्र बनाया जायेगा। परीक्षा केन्द्रों का सत्यापन कराने के लिए पत्रावली भेज दी गयी है। कमेटी के निर्णय के बाद ही परीक्षा केन्द्रों की फाइनल सूची बोर्ड को भेजी जायेगी। इस बार बेव कास्टिंग सिस्टम के अनुसार नकल विहीन परीक्षा करायी जायेगी। सभी केन्द्रों पर सीसीटीवी कैमरे लगेंगे, जिसकी निगरानी जिला-मुख्यालय पर जनपद स्तरीय अधिकारियों द्वारा किया जायेगा।

[MORE_ADVERTISE1]
[MORE_ADVERTISE2]